जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान सरकार ने कोरोना संक्रण पर लगाम लगाने के लिए टेंस्टिंग क्षमता बढ़ाने के साथ ही प्लाज्मा थैरेपी शुरू करने का निर्णय लिया, लेकिन फिर भी इस महामारी पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है। रविवार को प्रदेश में 1167 पॉजिटिव केस मिले हैं। वहीं, 12 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक 44,410 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इसके साथ ही मौतों का कुल आंकड़ा 706 हो गया। प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 12,448 है। चिकित्सा विभाग के आंकड़ों के अनुसार, जयपुर के बाद अजमेर, अलवर, बाड़मेर, भरतपुर, बीकानेर, धौलपुर, जालौर, जोधपुर, कोटा, नागौर, पाली, सीकर व उदयपुर में एक हजार से अधिक कोरोना संक्रमित मिले हैं।

सबसे अधिक 7098 पॉजिटिव केस जोधपुर में मिले हैं। सबसे कम 196 केस जैसलमेर जिले में मिले हैं। रविवार को जोधपुर में बीएसएफ के छह जवान पॉजिटिव मिले हैं। इससे पहले दिल्ली से जोधपुर लाए गए 59 बीएसएफ के जवान पॉजिटिव मिले थे, वे सभी उपचार के बाद अब स्वस्थ हो गए। राजस्थान में शनिवार को कोरोना के 1160 पॉजिटिव केस मिलने के साथ ही 14 लोगों की मौत हुई। प्रदेश में अब तक कुल 43,243 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। वहीं 694 लोगों की मौत हुई,एक्टिव केसों की संख्या 11,881 है।

उधर प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग करनी चाहिए। अब वीडियो कांफ्रेंसिंग दो दिन तक हो तो अच्छा होगा, जिससे सभी को बोलने का मौका मिलेगा। राज्यों को मिलने वाले राजस्व में कमी आई है। राजस्थान का राजस्व 40 प्रतिशत ही आया है। केंद्र सरकार को बताना चाहिए कि वे क्या मदद कर रहे हैं। शनिवार को जयपुर में मीडियो से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की रोकथाम को लेकर अच्छा काम हो रहा है। प्रदेश में पहले मृत्युदर 2 प्रतिशत थी,अब 1 प्रतिशत रह गई  प्रदेश में संक्रमितों की संख्या अधिक बढ़ने का कारण अधिक टेस्ट होना बताते हुए सीएम ने कहा कि पहले हमें कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल बाहर भेजने होते थे,अब यहीं होने लग गए। करीब 50 हजार टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं।

 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस