जयपुर। राजस्थान के अलवर में दो लोगों ने जीवन बीमा पाॅलिसी के 60 लाख रुपए हड़पने के लिए एक युवक की हत्या कर दी और शव का अंतिम संस्कार करने का प्रयास किया।

अलवर में 30 सितम्बर को ढाबे पर काम करने वाले सालपुर निवासी रामकेश की हत्या हुई थी और उसकी जेब में अलापुर निवासी सुनील खत्री के वोटर आईडी कार्ड मिला था। पुलिस ने सुनील खत्री के परिजनों को सूचित कर पंचनामा करवा कर मृतक का पोस्टमार्टम करवाया और शव सुपुर्द कर दिया। इसके बाद उसका अंतिम संस्कार किया जा रहा था, तभी मृतक रामकेश के परिचित ने उसको पहचान लिया और पुलिस को सूचना दे दी।

पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और उसकी पहचान करवाई तो उसकी पहचान सालपुर निवासी रामकेश भोपा के रूप में हुई। मृतक के परिजनों ने हत्या का मामला दर्ज करवाया।

रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि अलापुर निवासी सुनील खत्री के परिवार के लोगों ने यह हत्या की है। जांच के दौरान पुलिस ने सुनील खत्री के भाई अनिल खत्री और चचेरे भाई पवन खत्री को गिरफ्तार किया।

पूछताछ में उसने बताया कि उसके भाई सुनील खत्री की 60 लाख रुपए की एलआईसी पॉलिसी को उठाने के चक्कर में उन्होंने रामकेश की सिलीसेढ़ के समीप हत्या कर दी और रामकेश की जेब में सुनील खत्री की आईडी डाल दी। इसके बाद पोस्टमार्टम करवाकर उसका दाह संस्कार अलापुर में कर रहे थे। उस समय किसी ने रामकेश की बॉडी को पहचान लिया।

Posted By: Preeti jha