जयपुर, [जागरण संवाददाता]। राजस्थान के रेगीस्तान में भारत और ब्रिटेन सेना के संयुक्त युद्धाभ्यास "अजेय वॉरियर-2017 " का गुरूवार को समापन हो गया । दो सप्ताह तक चले युद्धाभ्यास के समापन समारोह के मौके पर भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे,वहीं भारतीय सेना के ले.जनरल रणवीर सिंह सहित कई वरिष्ठ सैन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

युद्धाभ्यास के दौरान दोनों देशों के 120 सैनिकों ने एक-दूसरे के युद्ध कौशल का आदान-प्रदान किया। दोनों देशों की सेनाओं का मकसद आतंकवाद के खिलाफ चलाए जाने वाले अभियान को अंजाम तक पहुंचाना रहा। युद्धाभ्यास में "शूट फॉर किल मिशन" के तहत जवानों ने रेगीस्तान में अपने हथियारों से दुश्मन को निशाना बनाते हुए लक्ष्य हासिल किया ।

वहीं एक दिन निशस्त्र रहते हुए युद्ध प्रशिक्षण और मुकाबले के दौरान घायलों को चिकित्सकीय सहायता देने का प्रशिक्षण दिया गया । सैनिकों ने अत्याधुनिक हथियारों के उपयोग की जानकारी भी ली । भारतीय सेना ने जहां जम्मू-कश्मीर और श्रीलंका में अपनाए गए युद्ध कौशल की जानकारी साझा की,वहीं ब्रिटेन सेना ने अफगानिस्तान और इराक में युद्ध के दौरान दिखाए गए कौशल की जानकारी भारतीय सैनिकों को दी। दो सप्ताह तक आतंकवादियों के ठिकाने तलाशने,आतंकवादियों को घेरकर खत्म करने और रेगीस्तान में जहरीले जानवारों से खुद का बचाव करने की तकनीक भी साझा की गई।

सेना के प्रवक्ता कर्नल मनीष ओझा ने बताया कि इस युद्धाभ्यास में भारतीय सेना की इकाई 20 राजपूताना राइफल्स और ब्रिटेन सेना की बटालियन रॉयल एंग्लिकन रेजीमेंट के सैनिक शामिल हुए दोनोंं देशों की सेनाओं के बीच यह तीसरा युद्धाभ्यास था । इससे पहले एक बार वर्ष 2013 में बेलगाम और दूसरा वर्ष 2015 में यूके में युद्धाभ्यास को चुके है । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस