जयपुर, [जागरण संवाददाता] । गैर कानूनी भ्रूण लिंग परीक्षण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे छोटे-मोटे अस्पताल नए-नए तरीके अपनाते हैं । लेकिन शुक्रवार को राजस्थान के अलवर में एक ऐसे क्लिनिक का भंडाफोड़ हुआ है,जो बिना लिंग परीक्षण के गर्भवती महिलाओं को गलत रिपोर्ट देकर उनका गर्भपात कर देता है ।

 

अलवर जिले के जखरना गांव में चल रहे इस क्लिनिक के संचालक सोनू यादव फर्जी रिपोर्ट के आधार पर 25 महिलाओं के भ्रूण की हत्या कर चुका है । दरअसल,सोनू यादव और उसके ऐजेंट राजस्थान सीमा से सटे हरियाणा के मेवात इलाके में सक्रिय है । ये लोग मेवात के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को अपना शिकार बनाते है । यह क्लिनिक पिछले दो माह से इस काम में जुटा था । इसके गोरखधंधे की खबर हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के साथ ही अलवर जिले के बहरोड़ पुलिस थाने को भी मिली तो इस पर निगरानी रखना शुरू हुआ ।

 

शुक्रवार को एक गर्भवती महिला को भ्रूण लिंग  परीक्षण के लिए जखराना गांव में सोनू यादव की क्लिनिक पर भेजा गया । यहां क्लिनिक संचालक ने लैपटॉप में एक पेन ड्राइव लगाकर एक फर्जी रिपोर्ट रिपोर्ट निकालकर दे दी । इसके बताया गया कि महिला के पेट में लड़की है । इसके बाद महिला से 25 हजार रूपए लेकर गर्भपात की दवाईयां दी गई । इसी बीच बहरोड़ पुलिस और हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की टीम क्लिनिक पर पहुंच गई और सोनू यादव एवं उसके एजेंट मनोज को गिरफ्तार कर लिया । क्लिनक से गर्भपात के काम में आने वाली दवाईयां एक लैपटॉप बरामद किया गया । 

प्रारम्भिक पूछताछ में सोनू यादव ने खुद को आरएमपी चिकित्सक बताते हुए 25 महिलाओं के भ्रूण की हत्या करने की बात स्वीकार की है । ये सभी महिलाएं हरियाणा के मेवात की होने की बात सोनू यादव ने स्वीकारी है । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस