जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान के कोटा में एक व्यक्ति ने अपने दो बेटों के साथ ट्रेन के सामने छलांग लगाकर सामूहिक खुदकुशी कर ली। ट्रेन की चपेट में आने से तीनों के शव क्षतविक्षत हो गए। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस को तीनों मृतकों की जेब से मिले परिचय पत्रों के आधार पर उनकी पहचान की गई।

पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए पीबीएम अस्पताल भेजकर परिजनों को सूचना दी। पुलिस की प्रारम्भिक जांच में सामने आया कि तीनों पिता पुत्र ने आर्थिक तंगी के चलते आत्महत्या की है। ये तीनों कर्ज के कारण काफी दिनों से परेशान बताए गए।

उधोग नगर थाना पुलिस के अनुसार खुदकुशी करने वाले प्रकाशचंद जैन(66) उनके पुत्र तरूण (30) और अनिल (28) है। ये कोटा शहर के डीसीएम स्थित श्रीराम नगर के रहने वाले थे। तीनों मृतक किराने की दुकान करते थे। बृस्पतिवार सुबह वे तीनों घर से परिजनों को बिना कुछ बताए घर से निकले और करीब साढ़े छह बजे धानमंडी फ्लाईओवर के नीचे रेलवे स्ट्रैक पर खड़े हो गए।

कुछ देर बाद जैसे ही तेज रफ्तार से ट्रेन गुजरी तीनों हाथ पकड़कर ट्रेन के आगे कूद गए। इससे उनकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई। शव के टुकड़े दूर-दूर तक बिखर गए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने किसी भी प्रकार का सुसाइड नोट मिलने से इंकार किया है।  

Posted By: Preeti jha