उदयपुर, संवाद सूत्र। शादी करवाने का झांसा देकर दूल्हे और परिजनों को कोटड़ा बुलाकर उन्हें बंधक बनाने एवं लूटपाट की वारदात सामने आई है। इस मामले में पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लूटी गई कार, मोबाइल तथा नकदी बरामद की है। मिली जानकारी के अनुसार लड़की दिखाने के लिए बुलाया गया परिवार जालौर जिले के सांचौर क्षेत्र का रहने वाला है।

बदमाशों ने उन्हें डरा-धमकाकर उनसे रुपए, मोबाइल और कार लूट ली और एक घर में बंधक बना लिया था। जिसकी शिकायत उन्हें सांचौर के बाबूलाल के जरिए मिली। जिसने बताया कि समाज में लड़कियों की कमी के चलते उनके समाज के युवाओं को दूसरे समाज की लड़कियों से शादी करनी पड़ती है। पिछले महीने शादी संबंध को लेकर उनकी मुलाकात भंवरलाल खेर से हुई थी। जिसने उदयपुर जिले के कोटड़ा में शादी के लायक लड़की बताकर उन्हें परिवार सहित मिलने बुलाया था।

इस पर बाबूलाल अपने भतीजे नरपत मेघवाल जिसकी शादी करानी थी, के साथ उसके भाई छगनाराम, करनाराम के साथ अपनी कार से कोटड़ा आया। जहां भंवरलाल लड़की दिखाने के लिए उन्हें जोगीवड़ तालाब पर ले गए। जहां पहले से ही भंवरलाल के साथी मौजूद थे। जहां भंवरलाल के साथियों ने बाबूलाल और उसके परिजनों को पकड़ लिया। उनसे चार मोबाइल, 21 हजार रुपए की नकदी, सोने की बालियां तथा कड़े के अलावा उनकी कार लूट ली। यहीं नहीं उन्हें अपने साथी रामा के घर में बंधक बना लिया तथा कहा कि और पैसों की मांग करने लगे। इसी दौरान रामा किसी काम से घर गया तब बाबूलाल को बाहर निकलने का मौका लगा और वह छिपते—छिपाते पुलिस थाने पहुंच गया।

मामला सामने आते ही थानाधिकारी चांदमल सिंगारिया ने पुलिस टीम गठित की तथा वहां दबिश दी जहां बाबूलाल के परिजनों को बंधक बनाकर रखा गया। पुलिस ने वहां से नयावास का फला निवासी भंवरलाल खेर, जोगीवड़ निवासी नारायण बुंबरिया, उसके बेटे गोवा बुंबरिया, मांडवा निवासी रामा खोखरिया, जूनापादर निवासी होनिया गमार को गिरफ्तार करलिया। पुलिस ने लूट की कार के अलावा मोबाइल तथा कुछ नकदी बरामद की है। इस मामले में उनके अन्य साथियों की भी तलाश है, जिनसे जेवरात तथा बाकी नकदी बरामद की जानी है।

Edited By: Vijay Kumar