जयपुर, जागरण संवाददाता। Rajasthan:  राजस्थान में भरतपुर जिले के सामरी गांव में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या आठ हो गई है। वहीं, पांच लोगों की आंखों की रोशनी चली गई। दो लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। बुधवार को जहरीली शराब पीने से चार लोगों की मौत हुई। वहीं, बृहस्पतिवार को चार और लोगों की मौत हो गई। जिन लोगों की आंखों रोशनी गई है, उन्हें जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। घटना के बाद आबकारी आयुक्त जोगाराम, तकनीकी शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग, क्षेत्रीय विधायक अमर सिंह, संभागीय आयुक्त प्रेमचंद बेरवाल और जिला कलेक्टर नथमल डिडेल सहित कई प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारी गांव में पहुंचे।

आबकारी व पुलिस के 10 कार्मिक निलंबित

घटना के बाद सामरी सहित आसपास के गांवों में सन्नाटा पसरा रहा। जिला कलेक्टर ने मृतकों के परिजनों को सहायता का भरोसा दिया है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपित को दोपहर में गिरफ्तार किया और दूसरे की आंखें खराब हो गईं। सीएम के निर्देश पर आबकारी व पुलिस के 10 कार्मिकों को निलंबित कर दिया गया है ।

गोदाम सील किए

पुलिस ने गांव के आसपास 10 किलोमीटर क्षेत्र में शराब के सभी गोदाम सील कर दिए। 16 शराब की दुकानों के सैंपल जांच के लिए जयपुर लैब में भेजे गए हैं। पुलिस ने चार स्थानों से 45 लीटर हथकड़ शराब जब्त करने के साथ ही 3500 लीटर वॉश नष्ट किया है। अवैध देशी शराब बनाने की भट्टियां भी नष्ट की गई हैं। ग्रामीणों के अनुसार, हादसे के शिकार लोगों ने गांव में ही हथकड़ शराब बनाने वालों संतोष व रामेश्वर से खरीदी थी।

इसके बाद बुधवार को उन्हें उल्टी, सिर चकराने और आंखों से कम दिखाई देने की शिकायत हुई। हालत ज्यादा बिगड़ने पर स्थानी प्रास्थमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान चार लोगों की मौत हो गई। चार लोगों की मौत हुई है। अब तक आठ मृतकों में रामजीत, कंपोटर, प्रीतम सिंह, मांगीलाल, वासुदेव, धर्म सिंह, पदम सिंह और छोटेलाल शामिल हैं। अवैध हथकड़ शराब बनाने व बेचने के आरोप में संतोष को गिरफ्तार किया गया है। भतरपुर जिला आरबीएम अस्पताल के अधीक्षक डॉ. नवदीप सैनी ने बताया कि हथकड़ देशी शराब बनाने में मेथेनॉल अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाता है। इसकी ज्यादा मात्रा से शराब जहरीली हो जाती है। यह सीधे आंख को नुकसान पहुंचाती है। इससे हार्ट व लीवर को भी नुकसान होता है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021