उदयपुर, । कोरोना काल में जनता की परेशानियों को समझकर बेहतर सेवा देने वाले उन पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया जाएगा, जिनकी वजह से पुलिस की छवि सकारात्मक बनी है। इसके लिए पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों से ऐसे पुलिसकर्मियों के नाम मांगे हैं। पुरस्कार के लिए मुख्यालय ने कुछ मानदंड भी तय किए हैं, जिनकी पालना करने वाले पुलिसकर्मियों को सम्मान की श्रेणी में रखा जाना है।

मिली जानकारी के अनुसार कोरोना काल में आमजन के सहयोगी बने पुलिसकर्मी होंगे सम्मानित, पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों से सम्मान के लिए प्रस्तावित नाम मांगे हैं। कोरोना महामारी के दौरान आमजन के लिए सहायक बने पुलिसकर्मियों को सम्मानित किए जाने की योजना पुलिस मुख्यालय ने तैयार की है। जिसमें उदयपुर सहित प्रदेश के सभी जिलों से पुलिसकर्मियों के नाम मांगे गए हैं। मुख्यालय से मिले निर्देशानुसार सम्मान के लिए प्रस्तावित पुलिसकर्मियों के लिए पैमाना भी तय किया गया है। जिसमें कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉकडाउन की दो महीने की अवधि में वृद्ध, बच्चों तथा महिलाओं की सहायता, बीमार, गर्भवती महिलाओं, घायलों की चिकित्सकीय सुविधा, श्रमिकों और जरूरतमंदों की सहायता के साथ कोरोना प्रभावित क्षेत्र में सैनिटाइजेशन कार्य में सहभागिता, मरीजों को दवा वितरण, भोजन वितरण संबंधी कार्य, प्रवासी व्यक्तियों की सहायता, शवों के अंतिम संस्कार की सहायता के साथ सोशल डिस्टेंसिंग तथा लॉकडाउन की पालन भी शामिल है।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के चलते प्रदेश भर में पिछले दो महीने तक लॉकडाउन रहा। इस अवधि में लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पाए। साथ ही जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित मिले, उनमें कर्फ्यू  लगा रहा। जिसके चलते लोगों को खाने-पीने, बीमारी के दौरान उपचार, दवाइयां आदि की समस्याओं का सामना करना पड़ा। यहां तक गरीब लोगों के सामने रोजी ही नहीं, बल्कि रोटी का भी संकट पड़ गया। ऐसे में पुलिसकर्मी ही ऐसे लोगों के सहयोगी ही नहीं बने,बल्कि विभिन्न परेशानियों से उन्हें मुक्ति भी दिलाई। इससे आमजन में पुलिस की छवि सकारात्मक बनी। जिसको लेकर पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश भर के चयनित पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करने की योजना तैयार की। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस