जयपुर जेएनएन। राजस्थान के चूरू जिले में एक किसान ने शराब के नशे में अपनी 29 बीघा जमीन किसी और के नाम कर दी। उसके पैसे नहीं मिले तो जहर खा कर जान दे दी। मृतक के भतीजे ने आरोपी युवक के खिलाफ रतननगर थाने में मामला दर्ज करवाया है।

यह घटना राजस्थान के चूरू जिले के सातडा गांव की है। यहां 2015 में गांव के युवक मामराज ने किसान श्रीचन्द को शराब पिलाकर उसकी 29 बीघा जमीन अपने नाम करवा ली थी। मामराज ने किसान को भरोसा दिया कि वह इसकी उसे वाजिब कीमत भी देगा। श्रीचंद चार साल से उससे पैसे मांग रहा था, लेकिन मामराज ने ना तो उसे रूपए दिए और ना ही जमीन वापस की।

जमीन नहीं रहने से किसान की आर्थिक हालत लगातार कमजोर होती चली गई और वह मानसिक रूप से परेशान रहने लगा। इसी परेशानी मे किसान ने कीटनाशक का सेवन कर लिया। तबीयत बिगड़ने पर उसे चूरू के राजकीय भरतिया अस्पताल लाया गया। गम्भीर हालत के चलते किसान को बीकानेर रेफर कर दिया गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

किसान सम्मान निधि की तीसरी किस्त भी किसानों को मिली

जानकारी हो कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में अब तक राजस्थान के करीब 40 लाख किसानों को लाभ मिल चुका है। करीब 40 लाख किसानों के बैंक खातों में डेढ़ हजार करोड़ की रकम जमा हो चुकी है। राज्य के सहकारिता विभाग के रजिस्ट्रार नीरज.के पवन ने बताया कि प्रदेश के 6 लाख 33 हजार किसानों के बैंक खातों में तो किसान सम्मान निधि की तीसरी किस्त भी जमा हो चुकी है। शेष किसानों के बैंक खातों में तीसरी किस्त अगले एक माह में जमा होने की उम्मीद है।

उन्होंने बताया कि 39 लाख 70 हजार किसानों के बैंक खातों में पहली किस्त और 32 लाख किसानों के बैंक खातों में दूसरी किस्त जमा हो चुकी है। वहीं 6 लाख 33 हजार किसानों के बैंक खातों में तीसरी किस्त भी जमा कराई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि तीसरी किस्त के लिए 12 लाख 10 हजार किसानों के आवेदन पत्र तीसरी किस्त के लिए केंद्र सरकार को भेजे गए है। इनमें से 11 लाख 75 हजार किसानों के लिए 235 करोड़ रूपए की रकम स्वीकृत हो चुकी है। उल्लेखनीय है कि किसान सम्मान निधि योजना के तहत प्रत्येक चार माह में किसानों बैंक खातों में दो हजार रूपए जमा होते है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप