जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में सवाई माधोपुर जिले के डांगरवाड़ा गांव में सोमवार दोपहर टाइगर के हमले में एक 12 साल के बच्चे की मौत हो गई। वहीं, बच्चे को बचाने आई उसकी मां और एक अन्य किसान जख्मी हो गए। दोनों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। टाइगर के हमले में एक माह में सोमवार तीसरी मौत हुई है।

रणथंभौर सेंचुरी से सटे डांगरवाड़ा गांव में 12 साल का बच्चा नीरज अपनी मां सीमा देवी के साथ खेत में गया था। इसी दौरान नीरज खेलता हुआ खेत के चारों तरफ बनी मिट्टी की दीवार पर जाकर बैठ गया। मां सीमा देवी खेत में उदड़ की फसल काट रही थी। इसी बीच, अचानक एक टाइगर ने नीरज पर हमला कर दिया। नीरज के चिल्लाने की आवाज सुनकर सीमा देवी उसे बचाने के लिए गई तो टाइगर ने उस पर भी हमला कर दिया। नीरज की मौके पर ही मौत हो गई। खेत से वापस सेंचुरी की तरफ जाते हुए टाइगर ने एक किसान पर भी हमला किया, जिससे वह भी गंभीर रूप से घायल हो गया।

गंभीर रूप से घायल हुए किसान और नीरज की मां सीता देवी को सवाई माधोपुर के सरकारी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। खेत में काम कर रहे आसपास के लोगों से मिली सूचना के बाद वन विभाग और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। नीरज का शव अस्पताल की मोर्चरी में भेजकर पोस्टमार्टम कराया गया। शव परिजनों को सौंप दिया गया। मृतक एवं दोनों घायलों के परिजनों को मुआवजे की मांग को लेकर लोगों ने कुछ देर हंगामा किया, हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों की समझाइश के बाद वे शांत हो गए।

उल्लेखनीय है कि पिछले माह 22 सितंबर को रणथंभौर सेंचुरी के खंडार रेंज से सटे फारिया गांव में टाइगर ने एक चरवाहे पर हमला कर दिया था। उसके बाद 23 सितंबर को फिर एक बार फिर टाइगर ने एक चरवाहे पर हमला किया, जिसमें वह घायल हो गया। उस दिन लोगों की आवाज सुनकर टाइगर खेत में चला गया था। उससे पहले जुलाई माह में करौली के दुर्गशी घटा बस्ती से टाइगर रूप सिंह माली नामक एक व्यक्ति को उठाकर ले गया था। उसका शव क्षत-विक्षत हालत में मिला था।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस