जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। राजस्थान विधानसभा चुनाव कांग्रेस के लिए कितने मायने रखता है इस बात को इसी से समझा जा सकता है कि प्रदेश के नेताओं को अब राजनीति का ककहरा नए सिरे से सीखना होगा। राज्य विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए कांग्रेस के नेताओं को नए सिरे से राजनीति के दांवपेच सिखाए जाएंगे।

भाजपा को मात देने के लिए किस तरह की चुनावी रणनीति तैयार हो इसके लिए तमाम गुर सिखाने के लिए कांग्रेस के नेताओं और एक्सपर्ट टीम को दिल्ली से बुलाया गया है। एक्सपर्टस के साथ ही कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत,राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे,चुनाव स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट भी प्रदेश के 700 प्रमुख नेताओं को ट्रेनिंग देंगे।

राजस्थान कांग्रेस की मीडिया चेयरपर्सन अर्चना शर्मा ने बताया कि सोमवार जयपुर में लगने वाली इस क्लास में राजस्थान कांग्रेस के तमाम नेताओं को शामिल होने के लिए कहा गया है। इनमें वर्तमान विधायक, पूर्व विधायक,पूर्व सांसद, प्रदेश कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य,जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और कार्यकारणी,अग्रिम संगठनों के पदाधिकारी,आईटी सेल के पदाधिकारी शामिल होंगे।

कांग्रेस में यह पहली बार होगा जब चुनाव से 4 महीने पहले पार्टी 200 विधानसभा सीटों को लेकर विशेष रणनीति तैयार कर रही है। इस रणनीति में इस बात को भी शामिल किया जाएगा कि प्रदेश के पुराने नेता अपने पुराने तौर-तरीकों को छोड़कर आज के दौर की चुनाव लड़ने की तकनीक और तरीकों को अपने प्रचार में शामिल कर सकें ताकि भाजपा के हाईटेक चुनाव प्रचार का मुकाबला किया जा सके।

200 सीटों के लिए रणनीति तैयार करेगी कांग्रेस

राजस्थान कांग्रेस के इन तमाम नेताओं की मौजूदगी में प्रदेश की 200 विधानसभा सीटों को लेकर रणनीति तैयार की जाएगी। इस रणनीति में टिकट वितरण के समय बनने वाली स्थितियों से लेकर चुनाव से पहले बूथ मैनेजमेंट और सोशल मीडिया पर भाजपा के हमलों का जवाब कैसे देना है इन मुद्दों को लेकर मंथन होगा। प्रदेश के नेताओं को यह भी सिखाया जाएगा कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में किन मुद्दों को पुरजोर तरीके से जनता के सामने रखना है ताकि माहौल कांग्रेस के पक्ष में बनाया जा सके। इसके अतिरिक्त राजस्थान के इस चुनाव में कैसे तकनीक का उपयोग चुनाव प्रचार में करना है। कैसे युवा महिला और दलित वोटर्स को लुभाने के लिए अलग-अलग रणनीति अपनानी है इन तमाम विषयों पर भी बात की जाएगी।  

Posted By: Preeti jha