जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान के सवाईमाधोपुर में स्थित रणथंभौर सेंचुरी में सोमवार को दो टाइगर आपस में भिड़ गए। इलाके को लेकर हुए संघर्ष में दोनों टाइगर घायल हो गए। कैमरों से निगरानी रख रहे वन्यकर्मियों को जैसे ही दोनों टाइगर के आपस में भिड़ने की जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत उच्च अधिकारियों को बताया। मौके पर पहुंचे वन विभाग के दस्ते ने एक टाइगर को ट्रेंकुलाइज कर पकड़ा। जिस टाइगर को ट्रेंकुलाइज किया गया उसके सिर, गर्दन, पैरों और छाती पर गंभीर चोट आई है। वन्यजीव चिकित्सक अब इसका उपचार करेंगे। उपचार के बाद वापस उसे सेंचूरी में छोड़ा जाएगा।

जानकारी के अनुसार, रणथंभौर सेंचुरी के जोन-10 में टाइगर-109 और टी-42 आपस में भिड़ गए। दोनों के बीच काफी देर तक संघर्ष हुआ। इस संघर्ष में टी-109 गंभीर घायल हो गया। संघर्ष के बाद टी-42 वहां से चला गया। टी-109 को वन विभाग ने ट्रेंकुलाइज कर पकड़ा। जिला वन अधिकारी मुकेश सैनी ने बताया कि रणथंभौर में वर्तमान में क्षमता से अधिक बाघ-बाघिन है। यहां क्षमता 50 की है,लेकिन रह रहे 71 है।

उल्लेखनीय है कि बारिश के दिनों में बंद रहने के बाद राजस्थान की दोनों सेंचुरी रणथंभौर और सरिस्का मंगलवार से पर्यटकों के लिए खुलेगी।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप