अजमेर,जेएनएन। अजमेर के दोनों विधायक तथा पूर्व महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिता भदेल एवं पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पहला अजमेर दौरा निराशाजनक बताया। दोनों विधायकों ने कहा कि अजमेर की जनता को मुख्यमंत्री से अनेक उम्मीदें थीं, परन्तु गहलोत ने भाजपा राज में प्रारंभ संस्कृत काॅलेज का व पंचशील में भाजपा द्वारा स्थापित डिस्पेंसरी का लोकार्पण किया।

श्रीमती भदेल ने कहा कि चन्द्रवरदायी नगर स्थित पृथ्वीराज डिस्पेंसरी की कोई सुध नहीं ली न ही आदर्श नगर स्थित राजकीय सेटेलाईट चिकित्सालय के बारे में बजट इत्यादि की कोई घोषणा की, दोनों ही जगह चिकित्सकों की निुयक्ति भी पूरी तरह नहीं है न ही कोई मशीन इत्यादि की व्यवस्था है। भाजपा राज में जो चिकित्सक तैनात थे उल्टा उनका स्थानान्तरण अन्यत्र किया जाकर सेटेलाइट चिकित्सालय को चिकित्सकों से रिक्त किया गया है।

भाजपा राज में रेलवे स्टेशन की सैकण्डएन्ट्री ओर उसके पश्चात् वैकल्पिक मार्ग की योजना प्रारंभ हो चुकी है, परन्तु गहलोत ने इस ओर सुध भी नहीं ली, अनेक सरकारी स्कूलों में भी सुविधा बढ़ानी थी उस पर भी कोई ठोस बात नहीं की, पुष्कर मेले पर कोई सार्थक बात नहीं की केवल दिखावा मात्र ही यह यात्रा रखी गई।

उन्होंने रोष व्यक्त किया कि स्थानीय विधायकों को कार्यक्रमों में बुलावा नहीं भेजा, मुख्यमंत्री किसी दल का नहीं, वरन प्रदेश का होता है। विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस इंजीनियरिंग काॅलेज बडल्या व माखूपुरा महिला इंजीनियरिंग काॅलेज को राजकीय काॅलेज घोषित करने के मांग करती थी उक्त दोनों इंजी0 काॅलेज को राजकीय कोष से वित्त पोषित करना तो दूर रहा उल्टे इन काॅलेजों के आगे लिखा जाने वाला राजकीय शब्द भी हटा लिया गया। ऐसे में मुख्यमंत्री का अजमेर यात्रा निर्रथक साबित हुई है ओर अजमेर की जनता निराश है जिसका जवाब आने वाले निकाय चुनाव में कांग्रेस को भुगतना होगा।

मुख्यमंत्री ने झूठा श्रेय लेने का प्रयास किया— देवनानी

देवनानी ने पंचशील में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा लोहागल में राजकीय आचार्य संस्कृत महाविद्यालय के नवीन भवनों का मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पण किये जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इनके लोकार्पण के माध्यम से मुख्यमंत्री ने झूठा यश प्राप्त करने का जो प्रयास किया है उससे अजमेर की जनता भ्रमित होने वाली नहीं है क्योंकि यह सब जानते है कि इन दोनों ही कामों पर वर्तमान कांग्रेस सरकार ने एक रुपया भी खर्च नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि अजमेरवासियों को यह भलीभांति मालूम है कि पंचशील में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के निर्माण के लिए गत भाजपा सरकार द्वारा 5 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई थी जिसका 2017 में विधिवत शिलान्यास हुआ था तथा भवन को तैयार हुए लगभग 1 वर्ष हो चुका है। इसी प्रकार लोहागल में संस्कृत काॅलेज के भवन निर्माण हेतु भी भाजपा सरकार द्वारा 6.54 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई थी जिसका विधिवत शिलान्यास 2017 में हुआ था तथा इसके भवन का निर्माण पूर्ण हुए भी लगभग 1 वर्ष हो चुका है तथा वर्तमान सत्र से काॅलेज का संचालन भी इस भवन में ही हो रहा है। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप