जयपुर, एएनआइ। केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन एस राठौर के नेतृत्व में वीरवार को भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने अलवर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को लेकर कलक्टर कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। इस मौके पर राठौड़ ने कहा कि मामले में पुलिस की निष्क्रियता रही है। हम कलेक्टर से मिलने आए थे लेकिन वह कार्यालय में मौजूद नहीं हैं।

राजनीतिक नुकसान से बचने के लिए राजस्थान सरकार ने दबवाया मामला : भाजपा
राजस्थान के अलवर के थानागाजी में पति के सामने एक महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले ने अब पूरी तरह राजनीतिक रंग ले लिया है। मामले की जांच के लिए विपक्षी दल भाजपा की ओर से बनाई गई समिति ने अपनी रिपोर्ट में माना है कि सरकार ने चुनाव के दौरान राजनीतिक नुकसान से बचने के लिए यह मामला उजागर नहीं होने दिया और अब सरकार पुलिस अधीक्षक को पद से हटाकर अपनी जिम्मेदारी से बरी होना चाहती है। 

अलवर में पांच आरोपितों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म की घटना की जांच के लिए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने तीन सदस्यों की समिति गठित की थी। समिति में राज्यसभा सदस्य रामकुमार वर्मा, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा और वित्त आयोग की पूर्व अध्यक्ष ज्योतिकिरण शुक्ला को शामिल किया गया था। समिति ने पीड़िता और उसके परिजनों से मुलाकात कर बुधवार को रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष को सौंपी। समिति के सदस्य रामकुमार वर्मा ने बताया कि समिति ने मामले की पीड़िता, उसके परिजन, ग्रामवासी, स्थानीय मीडिया, पुलिस अधीक्षक तथा जिला कलेक्टर से चर्चा कर पूरी जानकारी ली है। इस मामले में स्थानीय पुलिस का व्यवहार निंदनीय रहा है। ग्रामवासी, पीड़िता तथा उनके परिजन सदमे में हैं।

गृह विभाग की लापरवाही के कारण यह मामला ज्यादा बिगड़ गया। इसलिए मुख्यमंत्री को इसकी जिम्मेदारी लेते हुए नैतिकता के आधार पर तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। वर्मा ने कहा कि चुनाव में होने वाले राजनीतिक नुकसान से बचने के लिए प्रशासन व सरकार ने मामले को दबाए रखा। समिति की सदस्य सुमन शर्मा ने बताया कि जब हम पी़ि़डता से बात करने पहुंचे, तो उससे पहले कांग्रेस स्थानीय नेता पी़ड़िता और उसके परिवार पर लगातार इस बात के लिए दबाव बनाए हुए थे कि वह मामले को ज्यादा न उछाले। शर्मा ने बताया कि पीड़िता को सुरक्षा भी हमारे पहुंचने के बाद मिल पाई। इस मामले में स्थानीय पुलिस की लापरवाही सामने आई है और राजनीतिक दबाव के कारण यह मामला दबाए रखा गया।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस