जयपुर, जेएनएन। अगले माह से शुरू होने जा रहे राजस्थान भाजपा के संगठन चुनाव में सदस्यता अभियान में रही सक्रियता अहम भूमिका निभाएगी। भाजपा ने राजस्थान में 50 लाख सदस्य बनाने का दावा किया है और अब हर जिले से आ रहे आंकड़ों का विश्लेषण कर पार्टी के कार्यकर्ताओं की सक्रियता का आकलन किया जा रहा है।

राजस्थान में भाजपा का सदस्यता अभियान छह जुलाई से शुरू होकर 20 अगस्त तक चला है। अब 11 सितंबर से पार्टी के संगठन चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी। इस बीच, पार्टी का सक्रिय सदस्यता अभियान भी चलेगा, जिसमें पार्टी कुछ शर्तो से उन लोगों को सदस्य बना रही है, जो संगठन में सक्रियता से काम कर सकें। पार्टी ने राजस्थान में इस बार 50 लाख सदस्य बनाने का दावा किया है। पार्टी के सदस्यता अभियान के प्रदेश संयोजक सतीश पूनिया का कहना है कि हमने अपने लक्ष्य से ज्यादा सदस्य बनाए हैं और ये सभी कार्यकर्ताओं की मेहनत से हो पाया है।

सदस्यता अभियान से सक्रियता का आकलन

सदस्यता अभियान के लिए पार्टी ने अपने मौजूदा कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां सौंपी थीं। अब पार्टी हर जिले और विधानसभा क्षेत्र से बनाए गए सदस्यों के आंकड़े जुटा कर यह आकलन कर रही है कि किस क्षेत्र में किस कार्यकर्ता ने सदस्यता अभियान में कितनी सक्रियता से काम किया। अभियान के राष्ट्रीय सह संयोजक अरुण चतुर्वेदी के अनुसार विधानसभा क्षेत्रवार यह आंकड़ा जुटाया जाएगा, ताकि संबंधित विधानसभा और जिले में इस अभियान में जुटे पदाधिकारियों की सक्रियता का आकलन हो सके।

चतुर्वेदी के अनुसार मोबाइल के जरिये जो ऑनलाइन डाटा फीड किया गया था, उसका आंकड़ा तो पार्टी के पास पहुंच चुका है, लेकिन कई जगह इंटरनेट की समस्या रही है। वहां बनाए गए नए सदस्यों का आंकड़ा अब पार्टी तक पहुंचाया जा रहा है। इसके बाद नए सदस्यों का वर्गीकरण क्षेत्र के हिसाब से किया जा सकेगा। पार्टी सूत्रों का कहना है सदस्यता अभियान का पूरा सिस्टम इतना पारदर्शी है कि किस व्यक्ति ने कितने सदस्य बनाए, इसका पूरा आंकड़ा पार्टी के पास आ रहा है।

अगले माह से शुरू हो रहे संगठन चुनाव में कार्यकर्ताओं की यह सक्रियता उनके संगठन में जगह पाने के लिए बड़े आधार का काम करेगी। जिन लोगों ने सक्रियता से काम किया, उन्हें पार्टी संगठन में जिम्मेदारियां देकर आगे लाएगी। इसके साथ ही अगले छह महीने में होने वाले नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में प्रत्याशी चयन में भी सदस्य बनाने में कार्यकर्ताओं की सक्रियता अहम भूमिका निभा सकती है।

31 अगस्त तक सक्रिय सदस्यता अभियान

प्राथमिक सदस्यता अभियान समाप्त होने के बाद अब पार्टी का सक्रिय सदस्यता अभियान शुरू हुआ है जो 31 अगस्त तक चलेगा। सदस्यता अभियान के राष्ट्रीय सह संयोजक अरुण चतुर्वेदी ने बताया कि इसके लिए कुछ मापदंड निर्धारित किए गए हैं। सक्रिय सदस्य बनने के लिए संबंधित जिला अध्यक्ष के यहां आवेदन करना होगा। सक्रिय सदस्यता के लिए कम से कम 25 नए सदस्य बनाने, सालभर में कम से कम सात दिन पूरी तरह पार्टी के काम में जुटा होने, पार्टी की निर्धारित आर्थिक सहयोग राशि जमा कराने और पार्टी का कोई बकाया नहीं होने की शर्त पूरी करना जरूरी है।

प्रदेश भाजपा इकाई यह मान कर चल रही है कि इस बार सक्रिय सदस्यों की संख्या एक लाख से अधिक रह सकती है क्योंकि पार्टी से जुडे़ तमाम पदाधिकारी और निर्वाचित जनप्रतिनिधि के साथ ही आगामी संगठन चुनाव लड़ने के इच्छुक कार्यकर्ता को भी सक्रिय सदस्य होना जरूरी है। सक्रिय सदस्य के लिए 31 अगस्त तक प्राप्त आवेदनों के सत्यापन का काम सितंबर से शुरू होगा और प्राप्त हुए आवेदनों की जांच होगी। सत्यापन के काम के लिए पार्टी की ओर से जिला और प्रदेश स्तर पर भी सत्यापन समितियों की घोषणा की जा चुकी है।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप