जागरण संवाददाता, जयपुर। उन्मादी हिंसा (मॉब लिंचिंग) और गोतस्करी के लिए पूरे देश में बदनाम राजस्थान के अलवर जिले में "राम-राम" नहीं बालने पर एक युवक के साथ मारपीट और उसकी पत्नी से अभद्रता करने का मामला सामने आया है। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, चार युवकों ने अलवर शहर में शनिवार देर रात 11 बजे पैदल अपने घर जा रहे समुदाय विशेष के एक दंपत्ति को रोका और दोनों पति-पत्नी से "राम-राम" बोलने के लिए कहा। दंपत्ति के साथ तीन साल का बच्चा भी था। दंपत्ति द्वारा ऐसा नहीं करने पर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया। चार युवकों ने पहले तो पति के साथ मारपीट की और फिर पत्नी से अभद्र व्यवहार किया। इस दौरान मारपीट एवं अभद्र व्यवहार करने वाले दो युवक को मौके से चले गए, लेकिन दो युवक दंपत्ति के साथ बुरा बर्ताव लगातार करते रहे। शोर-शराबा बढ़ा देख आसपास के लोग एकत्रित हो गए।

इस मौके पर भीड़ ने पहले तो दोनों युवकों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे फिर भी नहीं माने तो उनकी पिटाई कर दी। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। इधर, घटना की जानकारी मिलते ही अलवर कोतवाली पुलिस थाने की टीम मौके पर पहुंची और दंपत्ति से मारपीट एवं अभद्र व्यवहार करने वाले दो युवकों सुरेंद्र भाटिया एवं वंश भारद्वाज को गिरफ्तार कर लिया। रविवार को पुलिस ने दोनों युवकों से पूछताछ की। बताया जाता है कि पूछताछ के दौरान दोनों युवकों ने अहम खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार, दोनों युवकों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बार अलवर में मॉब लिंचिंग की घटनाएं हो चुकी हैं। गोतस्करी की भी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इसके चलते चलते यहां लोगों में दहशत है। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस