जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। लोकसभा चुनाव में राजस्थान की सभी 25 सीटों पर हुई कांग्रेस की हार के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को पहली बार कहा कि हार की जिम्मेदारी हम सब की है। अब तक हार की जिम्मेदारी लेने से बचते रहे गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि हार की जिम्मेदारी हम सभी की है।

गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि हमारा दृढ़ विश्वास है कि वर्तमान परिदृश्य में केवल राहुल गांधी ही पार्टी का नेतृत्व कर सकते हैं,देश और देशवासियों के प्रति उनकी प्रतिबद्धता बेमिसाल है। हम सब कांग्रेस अध्यक्ष का सम्मान करते है। सोमवार को कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने राहुल गांधी से मुलाकात की है। इस मुलाकात से पहले गहलोत ने ट्वीट किया।

उधर हार के बाद से गहलोत और उप मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट के बीच चल रही खींचतान तेज होती जा रही है। दोनों नेता अब दिल्ली में अपनी पकड़ मजबूत करने में जुटे है। पायलट ने पिछले तीन दिन में हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुडा, वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल एवं प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे से मुलाकात की।

गहलोत चुनाव में हार के बाद से हर सप्ताह दिल्ली जाकर केंद्रीय नेताओं को अपने पक्ष में करने में जुटे है। गहलोत और उनके समर्थकों ने हार के बाद से केंद्रीय नेताओं के समक्ष एक ही तर्क दिया कि हार पूरे देश में हुई है, अकेले राजस्थान में नहीं।  

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप