जयपुर, जागरण संवाददाता। अपने आश्रम में नाबालिग के साथ दुष्‍कर्म के आरोप में आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाने वाले जज मधुसूदन शर्मा का तबादला कर दिया गया है। शर्मा जोधपुर की एससी-एसटी कोर्ट के जज थे। उनके स्थान पर अनिमा दाधीच को लगाया गया है।

राजस्थान हाईकोर्ट प्रशासन ने बुधवार देर रात दो अलग-अलग तबादला सूची जारी की । इनमें एक तबादला सूची में मधुसूदन शर्मा का भी नाम है। अब शर्मा को जयपुर स्थित विधि विभाग के संयुक्त सचिव का पद पर लगाया गया है। जोधपुर एससी,एसटी कोर्ट में ही प्रदेश के चर्चित भंवरी देवी अपहरण और हत्याकांड का मामले की सुनवाई चल रही है।

उल्लेखनीय है कि आसाराम करीब 5 साल से न्यायिक हिरासत में था। दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न की विभिन्न धाराओं में दोषी करार दिए जाने के बाद आसाराम को ताउम्र जेल में रहना होगा। फैसला सुनाए जाने के बाद से मधुसूदन शर्मा को कड़ी सुरक्षा प्रदान की गई थी।

मधुसूदन शर्मा की कोर्ट के बाहर हथियारबंद सुरक्षा अधिकारी तैनात करने के साथ ही उनके साथ दो हथियारबंद निजी सुरक्षा अधिकारी नियुक्ति किए गए थे। फिलहाल यह तय नहीं है कि ये सुरक्षा शर्मा को आगे भी मिलती रहेगी या नहीं ।  

Posted By: Preeti jha