जयपुर, जागरण संवाददाता। कभी बाघों के आपसी संघर्ष तो कभी मानव के शिकार को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाली राजस्थान के सवाई माधोपुर में स्थित रणथंभौर सेंचूरी में अब वन्यजीवों के भूख मिटाने के लिए पॉलीथिन खाने का मामला सामने आया है। कुछ वन्यजीवों के पॉलीथिन एवं अन्य कचरा खाकर भूख मिटाने का वीडियो दो दिन से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

रणथंभौर सेंचूरी के जोन नंबर दो में एक पैंथर,एक सांभर और कुछ बंदर पॉलीथिन एवं अन्य कचरा खाकर अपनी भूख मिटाने की घटना सामने आई है। सेंचूरी की सैर करने गए पर्यटकों में से ही किसी ने इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया है। वनमंत्री सुखराम विश्नोई और वन विभाग के अधिकारी इस बारे में बोलने को तैयार नहीं है। हालांकि यह कोई पहला मौका नही है जब किसी वन्यजीवों का पॉलीथिन एवं अन्य कचरा खाते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।

इससे पहले भी जून माह में इसी तरह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसके बाद प्रदूषण नियंत्रण मंडल द्वारा रणथंभौर नेशनल पार्क के आसपास के करीब 22 होटलों की जांच की गई थी और अनियमितताएं मिलने पर आधे दर्जन होटलों को नोटिस जारी किये गए थे।

सेंचूरी में पॉलीथिन एवं अन्य प्लास्टिक सामग्री ले जाने पर पूरी तरह से रोक होने के बावजूद वहां इनका पहुंचना चिंता का विषय है। वन्यजीव प्रेमियों के अनुसार वन विभाग की लापरवाही वन्यजीवों पर भारी पड़ रही है।वन्यजीवों को सही ढंग से शिकार भी नहीं मिल पा रहा है और विभाग भी उन्हे समय पर खाघ सामग्री उपलब्ध नहीं करा पा रहा है। इसके चलते विभागीय उदासीनता का खामियाजा रणथम्भौर के वन्य जीवों को उठाना पड़ रहा है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस