जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में तालिबान जैसे हालात बनने और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर अशोक गहलोत सरकार पर निशाना साधने के एक दिन बाद अलवर के भाजपा सांसद बाबा बालकनाथ ने एक और बयान दिया है। बृहस्पतिवार को उन्होंने कहा कि अपराधी पुलिस पर फायरिंग करते हैं। राजस्थान में पुलिस अपराधियों से डरी हुई है। पुलिस को अपराधियों का जवाब देना चाहिए। अगर अपराधी अपराध करेगा तो पुलिस को बैठे नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पहले अलवर में एक पुलिस के जवान को गोतस्करों ने गोली मार दी थी। इस वजह से मैं कहता हूं कि गोली का जवाब गोली से देना चाहिए, तब ही अपराधी डरेंगे। उन्होंने कहा कि अपराध को खत्म करने का दम होना चाहिए। यह कहने से कुछ नहीं होगा कि अपराधी दूसरे राज्यों से आ रहे हैं, लेकिन पुलिस में दम होना चाहिए, अपराधियों को पकड़ने और सीधे ऊपर का रास्ता दिखाने का। बालकनाथ ने कहा कि अलवर के मेवात क्षेत्र से लोग पलायन कर रहे हैं। हिंदुओं को परेशान किया जा रहा है। काफी लोग धर्म परिवर्तन करने को मजबूर है। अपराधियों में पुलिस का भय नहीं होने के कारण यह हो रहा है। सरकार का अपराधियों को संरक्षण है। राज्य में भाजपा सरकार के कार्यकाल में ऐसा माहौल नहीं था।

गौरतलब है कि राजस्थान में अलवर संसदीय सीट से भाजपा सांसद बाबा बालकनाथ ने बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा था। बालकनाथ ने कांग्रेस सरकार की तुलना तालिबान से करते हुए कहा कि राज्य में अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि जब से अशोक गहलोत सरकार बनी है, तब से प्रदेश में अपराध का ग्राफ बढ़ा है। तालिबान जैसे हालात बन रहे हैं। एक समुदाय विशेष के कारण हिंदू अपने घर छोड़कर पलायन करने को मजबूर है। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि अलवर अपराध का गढ़ बन गया। अलवर जिले के भिवाड़, बहरोड़ और बानसूर में ताबड़तोड़ आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। भिवाड़ी में बेखौफ बदमाशों ने सरेआम एक बेकरी पर 30 राउंड फायरिंग की, उस समय वहां 70 लोग मौजूद थे।

Edited By: Sachin Kumar Mishra