जोधपुर, रंजन दवे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की सुरक्षा में चूक उस समय देखने में आई जब जोधपुर के सर्किट हाउस में उनसे मिलने एक युवक सर्किट हाउस की दीवार फांद कर पहुंच गया। युवक ने दीवार हीं नही फांदी बल्कि राष्ट्रपति के पांव छूने उनके पास भी जा पहुंचा। ऐसे में गुफ्तचर और सुरक्षा एजेंसियों की पोल खुलती नजर आई। जैसे ही वह संदिग्ध व्यक्ति राष्ट्रपति के चरण छूते हुए पकड़ा गया तभी पुलिस के एक अधिकारी की उस पर नजर पड़ी।

पकड़ा गया व्यक्ति दिनेश है, जो कि अजमेर का निवासी बताया गया है। हालांकि पुलिस ने उसे घटना के बाद हिरासत में लिया है और उससे पूछताछ जारी है। हालांकि राष्ट्रपति की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन से लेकर गुफ्तचर व सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से मुस्तैद है, लेकिन उनके जोधपुर के दो दिन के प्रवास के तहत इस चूक से सुरक्षा पर सवाल उठने लाजमी है, जबकि सुरक्षा के नाम पर आम जनता को सड़कों पर घंटों इंतजार करना पड़ा। यह संदिग्ध व्यक्ति सर्किट हाउस से सटी डिस्कॉम कार्यालय की दीवार फांदकर अंदर घुस आया था। पकड़ा गया व्यक्ति दिनेश चंद मानसिक रूप से परेशान भी बताया जा रहा है।

पुलिस कर्मियों पर गिरेगी गाज

मगर जिस तरह से सुरक्षा में जो चूक हुई है उसको लेकर सर्किट हाउस में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों पर जहां गाज गिरी है तो वहीं आधा दर्जन से अधिक सिपाहियों को निलंबित करने की सूचना भी आ रही है। तीन पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से स्पष्टीकरण भी मांग जा रहा है। कारण बताओं नोटिस देने के साथ ही कुछ और अधिकारियों पर निलंबन की गाज भी गिर सकती है। 

प्रियंका गांधी की सुरक्षा में भी हुई थी चूक

जानकारी हो कि एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद पिछले सप्ताह कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की सुरक्षा में चूक की खबर सामने आई थी। प्रियंका गांधी की सुरक्षा की जिम्मेदारी अभी सीआरपीएफ संभाल रही है। मामला 26 नवंबर का है जब सीआरपीएफ का सुरक्षा घेरा होने के बावजूद एक कार में सवार सात लोगों ने उनके आवास में बिना पूर्व जानकारी के प्रवेश किया और सेल्फी के लिए कहा। प्रियंका गांधी के दफ्तर ने सीआरपीएफ में इसकी शिकायत दर्ज कराई।

सूत्रों के मुताबिक कार तीन पुरुषों, तीन महिलाओं और एक लड़की के साथ बगीचे के पास बरामदे तक पहुंच गई थी। उसके बाद सातों लोग कार से उतरे और प्रियंका गांधी के पास जाकर उनके साथ फोटो खिंचवाने के लिए कहा। प्रियंका गांधी ने जब उनसे पूछा कि वे कहां से आ रहे हैं तो उन्होंने कहा कि वह उनके फैन हैं और उनसे मिलने के लिए आए हैं।प्रियंका गांधी के दफ्तर ने आईजी सीआरपीएफ को इस बारे में एक एक पत्र लिखकर सुरक्षा में ढील होने की शिकायत दी है। 

गौरतलब है कि केंद्र ने पिछले महीने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के परिवार से एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) सुरक्षा वापस ले ली थी और उसके स्थान पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 'जेड प्लस' सुरक्षा मुहैया कराई थी। जेड प्लस सुरक्षा के तहत सीआरपीएफ कमांडो इन नेताओं को घर पर और देश में कहीं भी यात्रा करने पर सुरक्षा प्रदान करती है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस