जयपुर, जागरण संवाददाता। हिमाचल प्रदेश में सोलन के चर्चित फर्जी डिग्री मामले के तार राजस्थान में सिरोही जिले के आबूरोड़ स्थित माधव यूनिवर्सिटी से जुड़ गए हैं। पिछले दिनों हिमाचल प्रदेश की पुलिस ने सोलन के मानव भारती यूनिवर्सिटी में फर्जी डिग्री घोटाले का खुलासा किया था। यह खुलासा होने के बाद सामने आया कि मानव भारती यूनिवर्सिटी के चेयरमैन राजकुमार राणा की आबूरोड़ में भी माधव यूनिवर्सिटी है। 

 हिमाचल प्रदेश के बाद अब राजस्थान सरकार के उच्च शिक्षा विभाग ने यूनिवर्सिटी के दस्तावेज जुटाने शुरु किए हैं। राजस्थान सरकार ने यूनिवर्सिटी पर शिकंजा कसना शुरु किया है। उच्च शिक्षामंत्री भंवर सिंह भाटी ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। हिमाचल प्रदेश पुलिस से सिरोही पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार राणा की मानव भारती यूनिवर्सिटी व माधव यूनिवर्सिटी द्वारा बड़े पैमाने पर फर्जी डिग्री बांटी गई। यह भी पता चला है कि खुद राजकुमार राणा की वकालत और पीएचडी की डिग्रियां तक फर्जी हैं।

 राणा ने इसी डिग्री के आधार पर खुद का बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन भी करवा लिया। उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी फिलहाल मानव यूनिवर्सिटी का रिकॉर्ड जुटाने के साथ ही सोलन पुलिस की कार्रवाई पर निगरानी रख रहे हैं । अधिकारियों के अनुसार पैसे लेकर फर्जी डिग्री बांटी जाती थी। प्रत्येक फर्जी डिग्री का अलग से कोड और यूनिक नंबर दिया हुआ था।

 गुजरात, हरियाणा व दिल्ली में बांटता था फर्जी डिग्री

माधव यूनिवर्सिटी के दलाल राजस्थान के बजाय गुजरात, हरियाणा व दिल्ली में सक्रिय थे। ये लोगों को पैसे लेकर सभी तरह की फर्जी डिग्री दिलाते थे। सोलन स्थित मानव भारती यूनिवर्सिटी के स्टाफ को आबू रोड़ स्थित माधव यूनिवर्सिटी से लॉ और पीएचडी की फर्जी डिग्रियां दिलाई गई। जानकारी के अनुसार दोनों यूनिवर्सिटी के द्वारा बड़ी संख्या में फर्जी डिग्रियां बांटी गई थी। माधव यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा में बैठे ही पास कर दिया जाता था। सिरोही जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने भी यूनिवर्सिटी के बारे में जानकारी एकत्रित करने को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। सोलन की पुलिस टीम भी माधव यूनिवर्सिटी की जांच में जुटी है।

 यह है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार फरवरी माह में सोलन स्थित मानव भारती यूनिवर्सिटी में एक महिला की शिकायत पर फर्जी डिग्रियों की जांच शुरु हुई। सोलन पुलिस ने जांच की तो इसके तार आबूरोड स्थित माधव यूनिवर्सिटी से भी जुड़े मिले। कुछ दिनों पूर्व ही सोलन पुलिस ने राज कुमार राणा को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरु की। पूछताछ में खुद राणा ने बताया कि फर्जी डिग्रियों के लिए देशभर में उसके एजेंट फैले हैं । राजकुमार राणा दोनों यूनिवर्सिटी में कुलपति व चेयरमैन है। फिलहाल वह सोलन पुलिस की गिरफ्त में है।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस