अजमेर, जागरण संवाददाता। उत्तरप्रदेश के अयोध्या में रामजन्म भूमि पर बनने वाले भगवान राम के भव्य मंदिर के 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन समारोह में अजमेर के किशनगढ़ क्षेत्र स्थित सलेमाबादनिम्बार्क पीठ के आचार्य श्यामशरण महाराज भी भाग लेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में होने वाले भूमि पूजन समारोह में देशभर से 200 प्रमुख व्यक्तियों, साधु संतों, धार्मिक पीठों के आचार्यों आदि को आमंत्रित किया गया है। भूमि पूजन के लिए आचार्य श्यामशरण ने निम्बार्क पीठ परिसर की मिट्टी और जल भी अयोध्या भेजी है।

विश्वहिन्दू परिषद के विभाग मंत्री शशिप्रकाश इंदौरिया और लेखराज सिंह राठौड़ ने बताया कि जिले के तीस से भी ज्यादा धार्मिक, सामाजिक स्थलों की जल और मिट्टी अयोध्या भेजी जा रही है, ताकि मंदिर निर्माण में काम आ सके। ऐसी पवित्र सामग्री रथ के माध्यम से भेजी जा रही है। एक रथ 28 जुलाई को ही ब्यावर से अयोध्या के लिए रवाना हुआ है।

अजमेर के जिन पवित्र स्थलों का मिट्टी व जल भेजा जा रहा है, उनमें पवित्र पुष्कर सरोवर, नारेली स्थित ज्ञानोदय तीर्थ, गनाहेड़ा स्थित दिव्य मुरारी बापू का आश्रम, सुरसुरा स्थित वीर तेजाजी मंदिर, बीसलपुर स्थित बीसलदेव मंदिर, केकड़ी स्थित निर्मलेश्वर महादेव मंदिर, चारभुजा धाम, आशापुरा माता मंदिर, अजमेर के फॉयसागर रोड स्थित चामुंंडा माता मंदिर, धोलाभाटा स्थित बाबारामदेव मंदिर, हाथीखेड़ा स्थित एकेश्वर महादेव मंदिर, रामनगर स्थित करंट वाले बालाजी, बिहारी गंज स्थित गोपालेश्वर महादेव मंदिर, अजयरगर स्थित उदासीन आश्रम, बजरंगगढ़ चौराहा स्थित सीताराम मंदिर, बाबूगढ़ स्थित बालाजी मंदिर, भगवानगंज स्थित शहीदअविनाश माहेश्वरी स्कूल, पुष्कर रोड स्थित आदर्श विद्या निकेतन, गौतम नगर स्थित शीतल शिव मंदिर, पुलिस लाइन स्थित हनुमान शीतला मंदिर, भोपो का बाड़ा स्थित मंदिर, सिद्धगणेश मंदिर, ऋषि घाटी स्थित घाटीवाले बालाजी मंदिर, भोपो का बाड़ा स्थित जय अम्बे मंदिर, मीराशाहली स्थित शिव मंदिर, घूघरा घाटी स्थित भैरव मंदिर, सुभाष नगर स्थित बालाजी मंदिर, कंचन नगर स्थित बालाजी मंदिर आदि शामिल है।

Posted By: Neel Rajput

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस