राज्य ब्यूरो, जयपुर। राजस्थान में भरतपुर के डीआइजी के नाम पर थानाधिकारियों से वसूली करने वाले व्यक्ति ने जयपुर की पाॅश काॅलोनी में ऐसा आलीशान मकान बनवा रखा है, जिसे देख कर छापा मारने वाले भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के अधिकारी भी दंग रह गए। इस पांच मंजिला बंगले में एक मंजिल पर तो रेस्टोरेंट चलता है, वहीं होम थिएटर से लेकर अत्याधुनिक बाथरूम तक हर चीज आलीशन है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने प्रमोद शर्मा नाम के इस व्यक्ति को बुधवार को 5 लाख रुपये लेते हुए जयपुर में रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। उसने भरतपुर के उद्योग नगर थाने में तैनात सीआई चंद्रप्रकाश से डीआइजी भरतपुर के नाम पर 10 लाख रुपये मांगे थे। चंद्रप्रकाश की शिकायत मिलने पर आरोपित प्रमोद शर्मा के मोबाइल को सर्विलांस पर रखा गया और फिर जांच की गई। उसके आधार पर पता चला कि आरोपित प्रमोद शर्मा डीआइजी  भरतपुर लक्ष्मण गौड़ का परिचित है और रेंज के पुलिस निरीक्षकों के पास पैसों की समय-समय पर मांग भी करता रहता है। सीआई चंद्रप्रकाश के अलावा भरतपुर रेंज के कई सीआई के पास में इस प्रकार के फोन आए थे और इन फोन कॉल्स की जांच पिछले काफी समय से की जा रही थी।

प्रमोद शर्मा को गिरफ्तार करने के बाद एसीबी ने जयपुर के मालववीय नगर में स्थित मकान की तलाशी ली तो बंगले की चकाचौंध देखकर ब्यूरो के अधिकारी भी चकित रह गए। करोड़ों रुपये की लागत से बनाए गए शर्मा के पांच मंजिला मकान की मेंटीनेंस पर ही हर महीने हजारों रुपये खर्च होते होंगे। मकान की खासियत यह है कि यह पूरी तरह से ऑटोमेटिक सिस्टम से लैस है। मकान में दरवाजे, खिड़कियां, एसी और म्यूजिक सिस्टम सब ऑटोमेटिक हैं। अधिकारियों ने जब यहां पर सर्च किया तो सामने आया कि इसका एक फ्लोर तो केवल रेस्टोरेंट है। इसके अलावा यहां एक होम थिएटर है। यहां महंगे रिक्लाइनर और सोफे लगे हुए हैं। प्रमोद शर्मा के घर में जब सर्च किया गया उसमें कई अहम जानकारियां उनके हाथ लगी हैं। इसमें लेनदेन की पर्ची के अलावा कुछ खाली चेक भी मिले हैं। उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड लिया जाएगा। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस