जयपुर, जेएनएन। राजस्थान के प्रतापगढ़ में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने एक पुलिस चौकी के प्रभारी को दस हजार रुपये रिश्वत लेते पकड़ा है। वहीं, एसीबी ने जयपुर के मानसरोवर थानें मे पदस्थापित एक एएसआई और उसके दलाल को 75 हजार रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा है। 

प्रतापगढ़ जिले के मुंगाना निवासी भेरूलाल लबाना ने एसीबी में शिकायत कर बताया कि उसने बीस माह पहले बांसवाड़ा में एक व्यक्ति को अपना ट्रैक्टर किराए पर दिया। लेकिन इस आदमी ने किराया देने के बजाय उसका ट्रैक्टर किसी और को बेच दिया। उसने पुलिस चौकी जगपुरा में इसकी रिपोर्ट कराई तो चौकी प्रभारी मदन सिंह ने पहले पांच हजार रुपये रिश्वत मांगी।

यह पैसा देने के बाद भी मदन सिंह ने कार्रवाई नहीं की और दस हजार रुपये और मांगे। एसीबी ने 23 अगस्त को मामले का सत्यापन कराया गया और बुधवार को ट्रैप कर मदन सिंह को रंगे हाथों रिश्वत लेते पकड़ लिया। अब एसीबी मदन सिंह के घर और अन्य संपत्ति की जानकारी जुटा रही है। 

एएसआई और दलाल को 75 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा
राजस्थान के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने गुरुवार को जयपुर के मानसरोवर थानें मे पदस्थापित एक एएसआई और उसके दलाल को 75 हजार रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा है।

एएसआई रतिराम यादव और उसके दलाल ताराचंद ने परिवादी से मानसरोवर थाने में दर्ज एक प्रकरण में धाराएं कम करने और मुकदमे में से महिलाओं के नाम हटाने की एवज में डेढ लाख रुपये रिश्वत मांगी थी, लेकिन मामला 75 हजार रुपये में तय हुआ था। बाद में परिवादी ने एसीबी शिकायत दर्ज करवा दी। रतिराम ने परिवादी को रिश्वत राशि लेकर मानसरोवर थाने के पास एक चाय की थड़ी पर बुलाया और रिश्वत राशि दलाल ताराचंद को देने को कहा।

दलाल ताराचंद ने परिवादी से रिश्वत राशि लेने के बाद एसआई रतिराम को रिश्वत राशि लेने के लिए बुलाया और जैसे ही थाने के बाहर रतिराम ने अपनी कार के अंदर बैठ ताराचंद से रिश्वत राशि ली, उसी वक्त एसीबी टीम ने दोनों को धर दबोचा। एसीबी अब दोनो से पूछताछ कर रही है।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप