जयपुर, जागरण संवाददाता। Coronavirus: राजस्थान में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक 6200 संक्रमित मिलने के साथ ही 29 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में सबसे अधिक 1325 मरीज जयपुर में मिले हैं। वहीं, कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राजस्थान सरकार ने 10 वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा स्थगित कर दी है। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड संक्रमण पर लगाम लगने के बाद परीक्षा की नई तारीख तय करेगा। सरकार ने आठवीं, नौवीं और 11वीं कक्षा के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के अगली कक्षाओं में प्रमोट करने का भी निर्णय लिया। प्रदेश में सभी स्कूल बंद करने पर भी विचार किया जा रहा है। इस बारे में शुक्रवार तक आदेश जारी हो सकते हैं। इस बीच, कोरोना के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर राजस्थान सरकार ने 16 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सभी शहरों में रात छह बजे से सुबह छह बजे में नाइट कर्फ्यू की घोषणा की।

शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू

राजस्थान में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज होती देख सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में शाम छह से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा। बाजार शाम 5 बजे बंद कर दिए जाएंगे। सभी सरकारी दफ्तर शाम चार बजे तक ही खुलेंगे। विवाह समारोह में 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। बैंड वादकों को इस संख्या में शामिल नहीं किया जाएगा। विवाह समारोह की वीडियोग्राफी होगी, बिना मास्क के किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। अंतेष्टि में 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पूल, मल्टीप्लेक्स, जिम पूरी तरह से बंद रहेंगे। सभी तरह के सामाजिक, धार्मिक व राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। कार्यालयों में कुल क्षमता के 50 प्रतिशत कार्मिकों ही काम पर बुलाया जाएगा। शेष कार्मिक वर्क फ्रॉम होम करेंगे। किसी कार्यालय में संक्रमित मिलने पर उसे 72 घंटे के लिए बंद किया जाएगा। सार्वजनिक परि वहन में कुल क्षमता के 50 फीसदी लोग ही यात्रा कर सकेंगे। धार्मिक स्थलों में ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था होगी।

10वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई कोरोना महामारी की समीक्षा बैठक में तय किया गया कि 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा स्थगित रहेंगी। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड संक्रमण पर लगाम लगने के बाद परीक्षा की नई तारीख तय करेगा। सरकार ने आठवीं, नौवीं और 11वीं कक्षा के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के अगली कक्षाओं में प्रमोट करने का भी निर्णय लिया। प्रदेश में सभी स्कूल बंद रहेंगे। यह गाइडलाइन 30 अप्रैल तक लागू होगी।

जानें, किस जिले में कोरोना के कितने मामले

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। 24 घंटे में सबसे अधिक 6200 संक्रमित मिलने के साथ ही 29 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में सबसे अधिक 1325 मरीज जयपुर में मिले हैं । 918 जोधपुर, 820 जोधपुर, 247 अजमेर, 279 अलवर, 355 भीलवाड़ा, 170बीकानेर, 135 चित्तौड़गढ़, 191 डूंगरपुर, 126 राजसमंद, 114 सवाईमाधोपुर में मिले हैं। करौली एकमात्र ऐसा जिला है, जहां एक भी मरीज नहीं मिला। शेष 21 जिलों में 10 से लेकर 90 मरीज मिले हैं । 24 घंटे में मृतकों में सबसे अधिक पांच कोटा, जयपुर व उदयपुर में चार-चार, जोधपुर में तीन, झालावाड़ व अजमेर में दो-दो, अलवर, बारां, बूंदी, चूरू, दौसा, जालौर, सीकर, सिरोही व टोंक में एक-एक मरीज मिले हैं। प्रदेश में अब तक तीन लाख 81 हजार 292 कुल संक्रमित मिले हैं। वहीं, मृतकों की संख्या 3008 हो गई। वर्तमान में एक्टिव केसों की संख्या 44,905 है।  अस्पताल में उपचार के बाद 1956 मरीजों को स्वास्थ होने पर घर भेजा जा चुका है। उधर, सरकार ने रेमडेसिविर और टोसिलिजुमैब की खुली बिक्री पर रोक लगा दी है। प्राइवेट अस्पतलों को निर्देश दिए गए हैं कि उन्हें यदि इनकी जरूरत है तो जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी से संपर्क करे,वहीं से ये उपलब्ध कराए जाएंगे। बाजार में इंजेक्शन बेचने और स्टॉक करने पर रोक लगा दी है।

भाजपा प्रत्याशी संक्रमित

प्रदेश की तीन विधानसभा सीटों पर 17 अप्रैल को होने वाले उप चुनाव के प्रचार अभियान का वीरवार को अंतिम दिन है। इस पहले बुधवार को सहाड़ा सीट से भाजपा प्रत्याशी रतनलाल जाट कोरोना संक्रमित हो गए। अब यहां चुनाव अभियान की कमान पार्टी नेताओं ने संभाली है। सहाड़ा के अतिरिक्त सुजानगढ़ व राजसमंद सीट पर भी चुनाव हो रहा है।

नेताओं व धर्मगुरुओं ने कहा, हम सरकार के साथ

सीएम गहलोत ने वर्चअुल विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं व धर्म गुरुओं के साथ संवाद किया। इन सभी ने कोराना के खिलाफ लड़ाई में सरकार का साथ देने की बात कही। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, वरिष्ठ विधायक राजेंद्र राठौड़ ने प्रदेश में नो मास्क नो एंट्री का फार्मूला लागू करने की मांग की। सभी ने कहा कि बिना सख्ती के कोरोना पर नियंत्रण होना मुश्किल है। अन्य राज्यों से आने वालों के लिए नो टेस्ट नो एंट्री पर सख्ती से पालने कराने की बात कही। आगामी दिनों में होने वाले विवाह समारोह में तय सीमा के अनुसार की लोगों के शामिल होने को लेकर सख्ती करने की बात कही।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप