जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान रोड़वेज ने बुधवार से 200 मार्गों पर रोड़वेज की 515 बसों का संचालन शुरू किया। 72 दिन के लॉकडाउन के बाद बसों का संचालन प्रदेश के विभिन्न जिलों के अलावा जयपुर से गुरूग्राम और नई दिल्ली के लिए शुरू किया गया। इससे पहले 23 मई से आंशिक रूप से बंसों का संचालन कुछ मार्गों के लिए शुरू किया गया था। हरियाणा के गुरुग्राम और हिसार तक भी रोडवेज बसें संचालित हो रही हैं। रोडवेज की बसें प्रतिदिन सुबह 5 बजे से लेकर रात 9 बजे तक संचालित होंगी।

रोडवेज ने प्रदेश के 32 जिलों को राजधानी जयपुर और प्रदेश के प्रमुख शहरों को आपस में जोड़ा है। बसों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ यात्रियों को बैठाया जाएगा। बस में सवार होने से पहले यात्रियों की स्क्रीनिंग होगी । यात्रियों को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। बुधवार सुबह जब बसों का संचालन शुरू हुआ तो लगभग सभी बसों में तय क्षमता के अनुसार यात्री अपने गंतव्य तक गए ।

उधर जयपुर रेलवे स्टेशन अब भी सुना है। 1 जून से आम लोगों के लिए ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई है। लेकिन अभी स्पेशन ट्रेनों को ही हरी झंडी मिली है। इन ट्रेनों में यात्रियों की संख्या कम है। अधिक यात्रियों को लाने ले जाने वाली पूजा, मरूधर , राजधानी एक्सप्रेस, लीलाणा एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं हो सका है।

जयपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली डबल डेकर, अजमेर-जम्मू तवी, अजमेर-आगरा फोर्ट, शताब्दी एक्सप्रेस,जोधपुर-इंदौर सुपरफास्ट,भुज-बरेली एक्सप्रेस का संचालन शुरू नहीं हो सका है । इन ट्रेनों में जयपुर से बड़ी संख्या में यात्रियों की प्रतिदिन आवाजाही होती थी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस