जयपुर, एजेंसी।  राजस्थान कांग्रेस ने बागी हुए उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके समर्थित मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें उप मुख्यमंत्री और मंत्री पदों से हटा दिया है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में विधायकों ने अशोक गहलोत को अपना नेता माना और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई। इसके बाद राजस्थान मंत्रिमंडल से सचिन पायलट और उनके दो करीबी मंत्रियों को बर्खास्त किया गया।

सचिन पायलट को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से भी हटा दिया गया है। उनकी जगह पर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। सचिन पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही मंत्री पद से हटाए जाने का ऐलान किया। सुरजेवाल ने कहा कि पायलट के साथ ही विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्री पद से हटाया जा रहा है। सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस विधायक पायलट के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

राज्यपाल कलराज मिश्रा से मिले सीएम अशोक गहलोत

पायलट को निकाले जाने के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजभवन पहुंच कर राज्यपाल कलराज मिश्रा से मुलाकात की। वह राज्यपाल को राज्य में चल रहे सियासी घटनाक्रम से अवगत कराया। उन्होंने उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और 2 मंत्री विश्वेंद्र सिंह व रमेश मीणा को मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग की।

सचिन पायलट को, विश्वेंद्र सिंह को, रमेश मीणा बर्खास्त

उप मुख्यमंत्री पद से सचिन पायलट और पर्यटन और खाद्य मंत्री पद से विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को बर्खास्त कर दिया गया है। सुरजेवाला ने बताया कि पिछले 72 घंटे में सोनिया गांधी ने राहुल गांधी के माध्यम से सचिन पायलट से और अन्य मंत्रियों से विधायकों से संपर्क करने की कोशिश की। केसी वेणुगोपाल ने कई बार बात की। प्रयास किए गए कि वो वापस आए, उनके लिए दरवाजो खुले हैं। कोई मतभेद है तो बैठक सुलझाएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट और उनके साथी मंत्री सरकार गिराने की साजिश कर रहे हैं। यह अस्वीकार्य है। इसलिए बड़े दुखी मन से कुछ निर्णय लिए हैं।

गोविंद सिंह डोटासरा को पीसीसी अध्यक्ष बनाया

सुरजेवाला ने पीसीसी के नए अध्यक्ष के नाम का भी ऐलान किया। उन्होंने शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को नया प्रदेशाध्यक्ष बनाने की घोषणा की। हेम सिंह शेखावत को राजस्थान प्रदेश सेवा दल का नया अध्यक्ष नियुक्त करने के साथ गणेश गोगरा को यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने की घोषणा की गई। कांग्रेस कार्यालय से सचिन पायलट के नाम की तख्ती हटाकर गोविंदसिंह डोटासरा के नाम की तख्ती लगाई गई। 

इससे पहले राजस्थान सरकार पर आया सियासी संकट मंगलवार को भी जारी है। दिल्ली के बड़े नेताओं और कथिततौर पर प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के फोन के बाद भी सचिन पायलट के बगावती तेवर कम नहीं हुए । सोमवार को कांग्रेस की ओर से पार्टी विरोध गतिविधियों को लेकर प्रस्ताव पारित कर एक और जहां पायलट और उनके समर्थक विधायकों को चेतावनी दी गई वहीं उनकी मनाने की हर संभव कोशिश जारी रही। लेकिन सभी कोशिशें नाकाम साबित हुई, पायलट विधायक दल की दूसरी यानी मंगलवार सुबह बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं हुए।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस