उदयपुर, जेएनएन। वन विभाग, ली टूर डी इंडिया तथा बेला बसेरा रिसोर्ट के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय साईकिल सफारी ‘पेडल-टू-जंगल’ का समापन रविवार को हुआ। तीन दिन के इस अद्भूत व नैसर्गिक रोमांच के दौरान साइकिल यात्री अरावली की सुरम्य पहाडिय़ों के बीच मेवाड़ की शौर्य गाथा से जुड़े पहलुओं की जानकारी प्राप्त कर अभिभूत हो उठे।

उन्होंंने यहां की प्रकृति की अनुपम छठा के साथ यहां के सौंदर्य को भी अपने मोबाइल में कैद किया। तीसरे दिन के निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार साइकिल सवार प्रकृति प्रेमी बेला बसेरा रिसोर्ट से निकलकर गवार, केलवाड़ा, बीड की भागल, कुंभलगढ़ सेंचुरी गेट, दाना बट्टा, ठण्डी बेरी होते हुए मुछाला महावीर तक पहुंचे।

यहां पर मुख्य वन संरक्षक आर.के.सिंह ने सभी प्रतिभागियों के प्रमाण पत्र प्रदान कर इस सफल आयोजन की बधाई दी। इससे पूर्व कुंभलगढ़ में कुंभलगढ़ होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष जमनाशंकर आमेटा, कुंभलगढ़ विकास अधिकारी नवला राम चौधरी, हेरिटेस सोसायटी के सचिव कुबेर सिंह आदि ने साइकिल यात्रियों का माला-उपरना आदि से स्वागत किया। ख्यातनात कवि माधवलाल दरक ने देश के विभिन्न हिस्सों से आए साइकिल यात्रियों को महाराणा प्रताप एवं मेवाड़ के इतिहास के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर विजय कुमार, रतन सिंह चौहान, रेंजर किशोर सिंह, डीएफओ मजूमदार, रिटायर्ड डीएफओ सुहैल मजबूर आदि मौजूद थे। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस