जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: सोमवार तड़के सेक्टर पांच में पेयजल की मुख्य लाइन टूटने का खामियाजा मंगलवार तक लोगों ने जल संकट के रूप में झेला। सेक्टर तीन, पांच, छह, सेक्टर चार,सात, न्यू कॉलोनी, सेक्टर सात एक्सटेंशन, कृष्णा कॉलोनी, न्यू रेलवे रोड, अशोक विहार, शीतला कॉलोनी, दयानंद कॉलोनी, सेक्टर 21, 22 समेत पुराने शहर के कई इलाकों में सोमवार को पानी नहीं आया। पानी नहीं आने के कारण लोगों के घर खाना नहीं बना, कई लोगों ने कार्यालय से छुट्टी ली। बच्चों को स्कूल छुड़वाना पड़ा। कर्मियों ने सोमवार को पूरी रात पाइप लाइन की मरम्मत का काम किया। अधिकारियों का दावा है कि मंगलवार को पानी की आपूर्ति दोबारा बहाल कर दी गई है। कुछ जगहों पर मंगलवार दोपहर के बाद पानी की आपूर्ति शुरू हो पाई।

बता दें कि सोमवार की सुबह चार बजे सेक्टर पांच में वर्धमान अस्पताल के पास पाइप लाइन टूटने के कारण बाढ़ का नजारा था। बहुत ज्यादा पानी सड़क बाढ़ की तरह बह रहा था। बसई प्लांट से यहां पानी की आपूर्ति रोकी गई, इसके बाद बसई प्लांट से पानी रोक दिया गया और परिणाम स्वरूप धनकोट के पास नहर का पानी ओवरफ्लो होकर खेतों में भर गया। इससे किसानों की फसल बर्बाद हुई। इस पाइप लाइन से पुराने शहर के सेक्टर तीन, चार, पांच, छह, सात, न्यू कॉलोनी शीतला कॉलोनी, अशोक विहार, सेक्टर 21,22, 23 और डूंडाहेड़ा तक पानी की आपूर्ति होती है। इन इलाकों में लोगों ने दो दिन तक पानी की किल्लत झेली। लोगों का कहना कि जलापूर्ति से संबंधित विभिन्न विभागों के बीच तालमेल की कमी के कारण ऐसे संकट आते हैं।

सेक्टर पांच के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष दिनेश वशिष्ठ ने बताया कि जीएमडीए की मुख्य पाइप लाइन सेक्टर के वर्धमान अस्पताल के पास सुबह चार बजे फटने की घटना से सेक्टर की सड़कें जलमग्न हो गई। उन्होंने तत्काल यह सूचना बसई वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के अधिकारियों को दी और प्लांट से पानी की आपूर्ति बंद करा दी। नतीजतन सोमवार को दिन हालांकि प्लांट से आने वाली लाइन से पानी की आपूर्ति नहीं हुई मगर जब पानी ओवरफ्लो हो रहा था तभी वाटर टैंक से लोगों के घरों में पानी की आपूर्ति करा दी थी, क्योंकि टैंक में पानी पर्याप्त था और वह भी ओवरफ्लो की स्थिति में था।

बसई प्लांट से पानी की आपूर्ति नहीं होने के बावजूद सेक्टर के लोगों को सोमवार को पानी दिक्कत नहीं हुई। मंगलवार को दोपहर तक पानी की आपूर्ति होने लगी है। सोमवार को पूरा दिन और पूरी रात जीएमडीए के कर्मियों ने मुख्य पाइप को दुरुस्त करने में लगाए। सूचना के बार कर्मियों ने भी पूरी रात जगकर पाइप लाइन को बनाने में काफी मशक्कत की है।

सेक्टर सात एक्सटेंशन के आरडब्लयूए संरक्षक लोकेश आहूजा ने बताया कि सोमवार के दिन पानी नहीं आने के कारण काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। हमें जानकारी बिल्कुल नहीं थी। दिन भर लोगों के फोन आते रहे। सोमवार और मंगलवार को लोगों को जल संकट से जूझना पड़ा। मंगलवार दोपहर दो बजे के बाद पानी की आपूर्ति हो पाई है, तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली है।

सेक्टर 22 बी के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष भीम सिंह ने बताया कि दो दिनों से पानी की आपूर्ति नहीं होने के कारण उनके सेक्टर के लोगों को बहुत परेशानी झेलनी पड़ी है। मंगलवार शाम तक सेक्टर में पानी की आपूर्ति नहीं हो पाई है। इससे काफी दिक्कत आ रही है। कई लोग ऑफिस नहीं जा पाए, बच्चों का स्कूल छुड़वाना पड़ा। न्यू कॉलोनी की मीनाक्षी ने बताया कि सोमवार को जलापूर्ति नहीं होने की वजह से काफी दिक्कत आई। मंगलवार की शाम को पानी की आपूर्ति शुरू हो पाई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप