उदयपुर, सुभाष शर्मा। Rajasthan Local Body Elections Results 2019. नगर निकाय चुनाव में भाजपा लगातार छठी बार बोर्ड बनाने में सफल रही। पार्टी के कद्दावर नेता और राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया पूरा जोर लगाने के बावजूद अपने समधी को जिता पाने में असफल रहे। इस चुनाव में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास को एक बार फिर झटका लगा है और सत्तर सीटों में से कांग्रेस महज बीस सीट ही निकाल पाई, लेकिन वह पहली बार चुनावी मैदान में उतरी अपनी भतीजा बहू को जिताने में सफल रही। निकाय चुनाव से पहले कटारिया लगातार भाजपा की बड़ी जीत का दावा करते आए थे। उनका दावा था कि भाजपा यहां साठ सीटों पर विजयी रहेगी, लेकिन मंगलवार को आए परिणामों में भाजपा का ग्राफ 44 पर जाकर थम गया।

भाजपा ने लगातार छठी बार बोर्ड बना लिया और कटारिया ने जनता का आभार जताते हुए शहर के विकास की बात कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने बीस वार्ड पर जीतकर कोई कीर्तिमान नहीं बनाया। पूर्व बोर्ड से कम सीट मिलने पर उन्होंने कहा कि यह सब राज्य सरकार के नए सिरे से किए परिसीमन की वजह से हुआ और भ्रम की स्थिति के बीच हमने जीत हासिल की। हालांकि, कटारिया के लिए उनके समधी अतुल चंडालिया की हार सबसे बड़ा झटका रही। चंडालिया मौजूदा भाजपा बोर्ड में पार्षद हैं और लगातार दूसरी बार मैदान में उतरे थे। कटारिया ने इस वार्ड में जमकर प्रचार भी किया, लेकिन जनता से चंडालिया को नकार दिया।

इधर, कांग्रेस की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास ने कांग्रेस के प्रदर्शन पर संतुष्टि जताई और कहा कि उनकी पार्टी अच्छे विपक्ष की भूमिका निभाएगी। पार्टी की हार से डॉ. व्यास को बड़ा झटका माना जा रहा है, लेकिन वह अपनी भतीजा बहू हिमांशी शर्मा को जिताकर लाने में सफल रही।

महापौर और उप महापौर के वार्ड में कांग्रेस की बड़ी जीत मौजूदा बोर्ड में भाजपा के महापौर चंद्रसिंह कोठारी के वार्ड चार में कांग्रेस के अरूण टांक ने भाजपा प्रत्याशी अनिल कुमावत 1039 मतों के बड़े अंतर से हराया। इसी तरह उप महापौर लोकेश द्विवेदी के वार्ड पचास से कांग्रेस के गौरव प्रताप भाजपा प्रत्याशी व पार्टी के मंडल अध्यक्ष चंचल अग्रवाल से 508 मतों से विजयी रहे। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक, जनता महापौर और उप महापौर से बेहद नाराज थी और उसका खामियाजा उनके प्रत्याशियों को उठाना पड़ा।

सबसे बड़ी जीत कांग्रेस की, सबसे छोटी माकपा के हाथ उदयपुर नगर निगम में सबसे बड़ी जीत कांग्रेस के प्रत्याशी हिदायतुल्ला ने हांसिल की। जिसने वार्ड सात से भाजपा के प्रत्याशी फरीदु्द्दीन को 1833 मतों से हराया, जबकि सबसे छोटी जीत मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के प्रत्याशी राजेंद्र वसीटा को मिली, जिसने भाजपा प्रत्याशी मनोज मेघवाल को 4 मतों से हराया। 

यह भी पढ़ेंः 20 निकायों में कांग्रेस और छह में भाजपा को स्पष्ट बहुमत

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप