जागरण संवाददाता, तरनतारन : गांव कसेल में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) के एटीएम को गैस कटर से काटकर 27.83 लाख की राशि लूटने वाले आरोपितों का दूसरे दिन भी कोई सुराग नहीं लग पाया। हालांकि लूट मामले की सारी जांच सब डिवीजन तरनतारन के डीएसपी ने अपने हाथ में ले ली है। प्रथम जांच में सफेद रंग की कार में सवार तीन लोग संदेह के घेरे में आए है, जिनकी पहचान के लिए कार्रवाई की जा रही है।

थाना सराय अमानत खां के अधीन आते गांव कसेल में स्थित एसबीआइ के एटीएम को गैस कटर से काटने की घटना शुक्रवार की रात 2.37 मिनट पर हुई। कुल मिलाकर लुटेरों ने पहले एटीएम कैबिन का शटर तोड़ा। फिर गैस कटर से एटीएम तोड़कर 27 लाख 83 हजार 500 रुपये की राशि लूटी। इस सारे घटनाक्रम को करीब आठ मिनट का समय लगा बताया जाता है। पुलिस अब यह भी जांच कर रही है कि एटीएम पर तैनात निजी कंपनी का सुरक्षा कर्मी साहिब सिंह आखिर बीमार होने का बहाना बनाकर घर क्यों चला गया था।

उससे प्राथमिक पूछताछ के बाद पुलिस ने रविवार को चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। सूत्रों की मानें तो एटीएम से तीन सौ गज पर स्थित गुरुद्वारा साहिब के सीसीटीवी कैमरे में सफेद रंग की कार में तीन संदिग्ध लोग इस क्षेत्र में रात को घूमते देखे गए। ये कार दो बार कस्बा कसेल के आसपास देखी गई। इसके बाद कार ने अमृतसर का रुख कर लिया। अब इस कार का सुराग लगाया जा रहा है। डीएसपी सुच्चा सिंह बल्ल ने बताया कि एटीएम कैबिन में लगे सीसीटीवी कैमरे के साथ भी छेड़छाड़ होने की पुष्टि हुई है। कुछ दिनों से सीसीटीवी कैमरे खराब होने बाबत गार्ड द्वारा संबंधित बैंक को अवगत करवाया गया था। हालांकि एटीएम लूटने आए आरोपितों ने सीसीटीवी कैमरे पर पहले स्प्रे किया। फिर बिजली का कनेक्शन भी काट डाला। सुरक्षा कर्मी के बयान दर्ज, जांच जारी

सब डिवीजन तरनतारन के डीएसपी सुच्चा सिंह बल्ल कहते हैं कि एटीएम काटकर इतनी बड़ी राशि ले जाने वाले आरोपित पुलिस की पकड़ से अधिक समय तक दूर नहीं रह पाएंगे। उन्होंने बताया कि बैंक के समीप गुरुद्वारा साहिब के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की भी जांच की गई है। डीएसपी बल्ल ने बताया कि निजी कंपनी के सुरक्षा कर्मी ने अपने बयानों में बताया कि रात साढ़े 12 बजे तबीयत खराब होने कारण वे घर लौट गया था। फिलहाल जांच जारी है।

Edited By: Jagran