संस, तरनतारन : हेरोइन और प्रतिबंधित गोलियां बेचने वाले तीन तस्करों को पुलिस ने काबू किया है। पकड़े लोगों में एक युवक एनडीपीएस एक्ट केस में पहले से भगोड़ा था। एसएसपी ध्रुमन एच निबाले ने बताया कि थाना भिखीविड के एसआइ पन्ना लाल ने सुरसिंह के पास लखविदर सिंह उर्फ विक्की निवासी गांव माणेके को काबू किया। उसके कब्जे से एक हजार प्रतिबंधित गोलियां मिलीं। जांच में सामने आया कि वर्ष 2017 में आरोपित से एक हजार नशीली गोलियां बरामद की गई थी। इस केस में लखविदर सिंह को भगोड़ा करार दिया गया था। एसएसपी ने बताया कि थाना कच्चा-पक्का के एसएचओ कुलवंत सिंह ने सुरसिंह निवासी सूरज सिंह को 15 ग्राम हेरोइन समेत काबू किया। जबकि बचित्र सिंह ने हरजिदर सिंह निवासी गांव कुल्ला को 500 नशीली गोलियों समेत काबू किया। तीनों को शुक्रवार एनडीपीएस एक्ट तहत नामजद कर लिया गया है। पुलिस ने नशीले पदार्थों को किया नष्ट

इधर, जिला पुलिस द्वारा विभिन्न तस्करों से बरामद किए गए नशीले पदार्थों को शुक्रवार को नष्ट कर दिया गया। एसएसपी ध्रुमन एच निबाले की मौजूदगी में पुलिस लाइन में नशीले पदार्थों को नष्ट किया गया। नशीले पदार्थ नष्ट करने लिए डीजीपी दिनकर गुप्ता द्वारा विशेष टीम का गठन किया गया था। एसएसपी निबाले ने बताया कि एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज 186 मुकदमों में से 128 मुकदमों से संबंधित 34 किलो 292 ग्राम हेरोइन, 12 मुकदमों से संबंधित 225 किलो 350 ग्राम चूरा पोस्त, 41 मामलों में 90,291 नशीली गोलियों, एक मुकदमें से संबंधित 26 नशीले टीकों के अलावा 539 ग्राम नशीला पाउडर, 30 ग्राम स्मैक को नष्ट किया गया। इस मौके पर पुलिस की टीम द्वारा बकायदा वीडियोग्राफी भी करवाई गई।

Edited By: Jagran