जागरण संवाददाता, धुन्न ढाए वाला (तरनतारन) : संसार की आठ बेमिसाल लड़ाइयों में मानी जाती सारागढ़ी की लड़ाई के महान शहीद लाल सिंह की यादगार पर श्रद्धांजलि समागम का आयोजन किया। समागम के मौके सारागढ़ी के शहीदों को श्रद्धांजलि देने लिए विधायक रमनजीत सिंह सिक्की का कार्यक्रम ऐन मौके पर रद्द हो गया।

खडूर साहिब हलके के गांव धुन्न ढाए वाला निवासी लाल सिंह की यादगार पर रखे गए श्री अखंड पाठ साहिब जी के भोग डाले गए। उपरांत रागी जत्थों ने कीर्तन किया। समागम में मुख्य मेहमान के तौर पर विधायक रमनजीत सिंह सिक्की ने शिरकत करने का वादा किया, परंतु वह समागम में नहीं पहुंचे। शहीद लाल सिंह की चौथी पीढ़ी से सिमरनजीत कौर सकाउंडन लीडर एयर फोर्स ने भी विशेष तौर पर शिरकत की।

इस मौके एसपी एच गौरव तुरा, एसडीएम सुरिंदर सिंह के अलावा यादगार कमेटी के चेयरमैन शूबेग सिंह धुन्न, पीए जर्मनजीत सिंह कंग, सेवा मुक्त ब्रिगेडियर इंद्र मोहन सिंह, कैप्टन मेवा सिंह, सूबेदार रछपाल सिंह के अलावा शहीद लाल सिंह के परिवार के सदस्य हंसा सिंह ने कहा कि संसार की आठ बड़ी लड़ाईयां हुई थी। इनमें से सारागढ़ी की लड़ाई का अपना अलग इतिहास है। कुल 21 सिख योद्धाओं ने कबायलियों का डटकर मुकाबला करते हुए सारागढ़ी चौकी पर फतेह हासिल की थी।

इस मौके निरवैल सिंह, कैप्टन स्वर्ण सिंह, अजैब सिंह मुंडापिंड, सरपंच महिंदर सिंह चंबा, सविंदर सिंह धुन्न, बलवंत सिंह, जैमल सिंह, निरवैल सिंह, अरूड़ सिंह, जत्थेदार निशान सिंह ने संबोधन किया। अंत में यादगार कमेटी ने एसपी गौरव तुरा, एसडीएम सुरिंदर सिंह सम्मानित किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!