जागरण संवाददाता, तरनतारन : साहिबजादा बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझार सिंह, शिरोमणि अमर शहीद बाबा जीवन सिंह व श्री चमकौर साहिब के समूह शहीदों की याद को समर्पित नगर कीर्तन श्री दरबार साहिब तरनतारन से रवाना हुआ। यह नगर कीर्तन श्री चमकौर साहिब पहुंचेगा। नगर कीर्तन मौके युवाओं को सिख इतिहास से अवगत करवाने लिए प्रदर्शनी भी लगाई गई।

नगर कीर्तन की अगुवाई पांच प्यारों ने की। यह नगर कीर्तन श्री गोइंदवाल साहिब, कपूरथला, करतारपुर, फगवाड़ा, बंगा, नवा शहर, बलाचौर, रोपड़ के बाद रात गुरुद्वारा भट्ठा साहिब विश्राम करेगा। 9 दिसंबर को यह नगर कीर्तन गुरुद्वारा श्री कत्लगढ़ साहिब (चमकौर साहिब) पहुंचेगा। वापसी में गुरुद्वारा माछीवाड़ा साहिब के बाद गांव गरचा, बंगा, मल्ला सोढि़या, फगवाड़ा, जालंधर, करतारपुर साहिब, ब्यास, रइया, जंडियाला गुरु, कदगिल के बाद वापस श्री दरबार साहिब तरनतारन पहुंचेगा। नगर कीर्तन मौके छोटे साहिबजादों को दीवारों में शहीद करने और श्री गुरु गोबिंद सिंह जी द्वारा पांच प्यारों को अमृत की दात बख्शने के दृश्य पेश किए गए। रवानगी मौके हेड ग्रंथी ज्ञानी प्रताप सिंह, मैनेजर बलविंदर सिंह उबोके ने पांच प्यारों को सम्मानित किया। पंजाब पुलिस की और से एएसआई कश्मीर सिंह ने नगर कीर्तन को सलामी दी। सरब सांझीवालता सेवक सभा के सेवादार साहिब सिंह, प्रगट सिंह, तरसेम सिंह, अमनदीप सिंह खालसा ने बताया कि साहिबजादा बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझार सिंह, शिरोमणि अमर शहीद बाबा जीवन सिंह व श्री चमकौर साहिब के समूह शहीदों की याद को समर्पित समागम 23 दिसंबर को श्री दरबार साहिब तरनतारन में सुनहरी पालकी का नगर कीर्तन आयोजित होगा। जबकि इसी दिन सुंदर दस्तार सजाने के मुकाबले करवाए जाएंगे। कथा स्थान में गुरमति समागम मौके विभिन्न रागी, ढाडी और कीर्तनी जत्थे हाजरी भरेंगे। भाई दविंदर सिंह सोढी का जत्था विशेष तौर पर संगतों को गुरबाणी से जोड़ेगा।

Posted By: Jagran