संवाद सूत्र, पट्टी : जिला सेशन जज प्रिया सूद ने सब जेल पट्टी का दौरा कर लाइब्रेरी का उद्घाटन किया। उन्होंने हवालातियों और कैदियों की बैरिकों में जाकर स्वच्छता व्यवस्था का जायजा लिया। इसके साथ ही कैदियों को दिए जा रहे भोजन की भी जांच की।

जिला सेशन जज ने बताया कि किसी अपराध के मामले में जेल में रहने का मतलब केवल समय बिताना नहीं होता, बल्कि अपना भविष्य सुधारना होता है। ऐसे में लाइब्रेरी की पुस्तकें वरदान साबित हो सकती हैं। सेशन जज ने हवालातियों और कैदियों को उनके कानूनी अधिकारों से अवगत करवाते हुए उन्हें कोरोना से बचाव की जानकारी भी दी।

सेशन जज प्रिया सूद ने बताया कि हवालाती और कैदी निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक मुफ्त वकील की सेवाएं ले सकते हैं। यह सेवाएं जिला कानूनी सेवाओं अथारिटी द्वारा मुहैया करवाई जाती हैं। जेल की मेस में जाकर सफाई प्रबंधों व भोजन की गुणवत्ता की जांच करते हुए जेल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट को आदेश दिया कि मेडिकल सेवाओं में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। जिला कानूनी सेवाओं अथारिटी के सचिव व सिविल जज (सीनियर डिवीजन) गुरबीर सिंह, सीजेएम राजेश आहलूवालिया ने कहा कि जेल में रहते हुई ईष्र्या को त्यागकर प्यार व सदभावना वाला माहौल बनाया जाए। इस मौके जेल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट जतिदरपाल सिंह भी मौजूद थे।

सिविल जज गुरबीर सिंह ने बताया कि जिला कानूनी सेवाओं अथारिटी की सेवाएं लेने लिए 101852-223291, टोल फ्री नंबर 1968 पर संपर्क किया जा सकता है। उन्होंनें कहा कि कानूनी सहायता मुफ्त दी जाती है।

Edited By: Jagran