अभिषेक जोशी, तरनतारन :

सीमावर्ती गांव भैणी गुरमुख सिंह निवासी मजदूर परिवार से संबंधित गुरसेवक सिंह के मकान पर गांव के सरपंच ने ताला लगा दिया। गुरसेवक अब परिवार के साथ दर-दर की ठोकरें खा रहा है। वहीं, सरपंच का दावा है कि गुरसेवक ने उससे 40 हजार रुपये ब्याज पर लिए थे। राशि लेते समय उसने ने अपना मकान गिरवी रखा था। आज यह राशि 2.80 लाख रुपए हो चुकी है।

खेमकरण के गांव भैणी गुरमुख सिंह निवासी गुरसेवक सिंह ने बताया कि उसने 2008 में सतनाम सिंह से 10 हजार रुपये ब्याज पर लिए थे। ब्याज समेत राशि 30 हजार रुपये बन गई। इसमें से 27 हजार रुपये उसे सतनाम को लौटा दिए। जबकि तीन हजार की राशि का भुगतान करने में असमर्थ रहा। पिछले साल गांव का सरपंच बनते ही सतनाम सिंह ने उसकी तरफ 2.80 लाख की राशि बना दी है। पैसे न लौटा पाने पर सरपंच ने उसके मकान को ताला लगा दिया है। मकान में फ्रिज, एलइडी, सामान की पेटी, बिस्तर, चारपाई व बर्तन पड़े हुए हैं। गुरसेवक सिंह अपनी पत्नी, दो मासूम लड़कियों व लड़के के साथ दर-दर की ठोकरें खा रहा है। गुरसेवक सिंह ने बताया कि उसने एसएसपी को लिखित में शिकायत दी परंतु कोई कार्रवाई नहीं हुई। गुरसेवक सिंह ने अब परिवार के साथ बड़े भाई के घर में शरण ली है। मैंने लगाया है ताला : सरपंच

सरपंच सतनाम सिंह ने दावा किया है कि गुरसेवक सिंह ने 40 हजार की राशि ब्याज पर ली थी। गारंटी के तौर पर उसने अपना दो मरले का मकान लिखकर दिया था। गुरसेवक ने उसके पैसों का भुगतान नहीं किया, जिसके चलते मकान पर मैंने ताला लगा दिया। गुरसेवक सिंह अब मकान लिखकर दिए बयानों से मुकर रहा है। अदालत की शरण में जाए गुरसेवक, पुलिस कुछ नहीं कर सकती थाना प्रभारी झिरमिल सिंह ने बताया कि उन्होंने भी मौके पर जाकर देखा है। गुरसेवक सिंह के मकान पर ताला लगा हुआ है। जब सरपंच सतनाम सिंह से बात की गई तो सामने आया है कि गुरसेवक ने मकान गिरवी रखकर ही सतनाम सिंह से पैसे लिए थे। पैसे के लेनदेन में पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर सकती। गुरसेवक सिंह को चाहिए कि वह अदालत की शरण में जाए। फोटो- गांव भैणी गुरमुख सिंह निवासी मजदूर गुरसेवक सिंह अपनी पत्नी व बच्चों समेत जानकारी देते हुए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!