जासं, तरनतारन : पंजाब, यूटी मुलाजिम व पेंशनर साझा फ्रंट की ओर से मांगो को लेकर दूसरे दिन भूख हड़ताल करके कांग्रेस सरकार खिलाफ नारेबाजी की गई।

भूख हड़ताल में शमशेर सिंह, परमजीत सिंह, पूरन सिंह, गुरिंदरपाल सिंह, गुरचरन सिंह ने कहा कि चुनावों के समय कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुलाजिम वर्ग के साथ ढेर सारे वादे किए थे। कई मांगें मंजूर तो की गई, परंतु लागू करने से हाथ खींचे जा रहे है।

धर्म सिंह पट्टी, रमेश शेरगिल, बलकार वल्टोहा, दिलबाग सिंह वरपाल, दविंदर सोहल, अमृतपाल बाकीपुर, रविंदर सिंह, बलजिंदर सिंह, अजमेर सिंह, नरिंदर बेदी, गुरप्रीत माड़ीमेघा, स्वर्ण सिंह, लखविंदर बहिला, विरसा सिंह पन्नु, रजवंत बागड़िया, कुलविंदर सिंह ने कहा कि राज्य की सरकार का तानाशाही रवैया बर्दाशत ने बाहर हो चुका है। नए भर्ती हो रहे कर्मचारियों का वेतन केंद्रीय स्केल पर देने का फैसला वापस लिया जाए। सरकारी संस्थानों को खत्म करने की नीति बंद करके बिजली संशोधन एक्ट वापस लिया जाए।

गुरप्रीत सिंह गंडीविंड ने कहा कि 15 रोजा भूख हड़ताल पूरे राज्य में शुरू की गई है। भूख हड़ताल के सातवें दिन मोटरसाइकिल रोष मार्च निकाले जाएंगे। एक तरफ सरकारी खजाना खाली होने का दावा किया जा रहा है। दूसरी तरफ सरकार के मंत्री और विधायक लूट मचा रहे है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!