संसू, भिखीविड : पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को मांग पत्र देने आए वालंटियरों ने उस समय नारेबाजी की, जब पुलिस ने उनको रास्ते में रोक लिया। कोरोना काल दौरान विभिन्न थानों में बतौर वालंटियर तैनात रहे इन युवाओं ने पंजाब पुलिस की होने वाली भर्ती में अपना हक मांगते कहा कि घर-घर रोजगार योजना तहत उनकी सुनवाई की जाए।

थाना झब्बाल के प्रभारी इंस्पेक्टर गुरचरन सिंह ने वालंटियरों को यह कहते रोका कि सुरक्षा-व्यवस्था के मद्देनजर केवल पांच लोग ही ज्ञापन देने आगे जा सकते है। जिस पर वालंटियरों ने नारेबाजी शुरू कर दी। मौके पर पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे वालंटियरों को हिरासत में ले लिया। इस मौके गगनदीप सिंह, जुगराज सिंह, गुरशरन सिंह, मनजीत कौर, मनविदर कौर, ज्योति, दलजीत कौर, गुरसेवक सिंह, बलविदर सिंह, गुरलाल सिंह ने कहा कि ज्ञापन देना उनका हक है। करीब आधे घंटे बाद थाना झब्बाल के प्रभारी इंस्पेक्टर गुरचरन सिंह ने पांच वालंटियरों को साथ लेकर नवजोत सिंह सिद्धू को ज्ञापन दिलाया।