संवाद सूत्र, पट्टी : गांव धारीवाल में गुरुद्वारा बाबा सिध भोए में प्रबंधकों द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित धार्मिक दीवान सजाए गए। दोपहर दो बजे कबड्डी की टीमों में मैच करवाए जाने थे, लेकिन प्रशासन की ओर से उक्त कार्यक्रम की मंजूरी न लिए जाने कारण कबड्डी के मैच रोक दिए गए। इसके बाद नाराज गांव वासियों ने प्रशासन के विरुध नारेबाजी की।

ब्लॉक समिति पूर्व चेयरमैन व वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुरदीप सिंह धारीवाल, तेजपाल सिंह, मलकीत सिंह, राम सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि समागम जानबूझ कर रुकवाया गया है। 29 अक्टूबर को सत्तारूढ़ पार्टी द्वारा समागम करवाया जाना है। गांव वासियों ने कहा कि समागम को विधायक हरमिंदर सिंह गिल के इशारे पर रुकवाया गया है। पूरे पंजाब में इस वक्त जगत गुरु श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व बाबत प्रोग्राम करवाए जा रहे हैं। इसी कड़ी तहत गांव धारीवाल में धार्मिक दीवान सजाए गए, लेकिन पुलिस ने चलता समागम रोक दिया।

मौके पर लोगों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए आरोप लगाया कि धार्मिक बोर्ड को नुकसान भी पहुंचाया गया। लोगों के गुस्से के मद्देनजर थाना सिटी पट्टी, सदर, सभरा, हरीके के थानों से पुलिस फोर्स मंगवाकर स्थिति को शांत किया गया।

मंजूरी न लेने के कारण रोका गया समागम : तहसीलदार

उधर, पट्टी के तहसीलदार सरबजीत सिंह ने कहा कि गांव वासियों ने प्रोग्राम करवाने की मंजूरी नहीं ली थी, जिस कारण समागम को रुकवाया गया है। डीएसपी कमलप्रीत सिंह मंड ने बताया कि इलाका मजिस्ट्रेट के आदेश पर यहां पर आए है ताकि किसी तरह का माहौल खराब न हो। प्रोग्राम करवाने बाबत प्रबंधकों द्वारा प्रशासन की मंजूरी लेना जरूरी थी, जो नहीं ली गई। हालांकि विधायक हरमिंदर सिंह गिल का कहना है कि कार्यक्रम रुकवाने में उनका कोई हाथ नहीं है। प्रशासन द्वारा यह कार्यक्रम रुकवाया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!