तरनतारन, [धर्मवीर सिंह मल्हार]। जिले के गांव भुच्चर कलां में एक युवक के साथ जो कुछ हुआ वह किसी फिल्‍म की कहानी से कम नहीं। पत्‍नी आैर साली के बीच में फंसे इस युवक ने आखिरकार खुदकुशी कर ली। युवक  की पत्‍नी से बच्‍चा पैदा न होने पर वारिस के लिए अपनी चचेरी बहन से पति को रिश्‍ता बनाने काे राजी किया। इसके बाद जब जीजा-साली का प्‍यार गहराने लगा तो वह इसे सहन न कर सकी और मायके चली गई। बहन का घर उजड़ते देख साली भी युवक को छोड़ कर चली गई और किसी अन्‍य से शादी रचा ली। इससे दुखी युवक ने खुदकुशी कर ली। पुलिस ने मामले में पांच आरोपियों को नामजद करके शुरू करके जांच शुरू कर दी है।

गांव भुच्चर कलां निवासी गुरमेज सिंह का लड़का सुखपाल सिंह आरएमपी डॉक्टर था। उसका पांच वर्ष पहले गांव दोबलियां निवासी सुखबीर कौर के साथ विवाह हुआ था। सुखपाल सिंह के कोई औलाद नहीं हुई। इस पर उसकी पत्नी सुखबीर कौर ने वारिस के लिए अपनी चचेरी बहन से पति को संबंध बनाने को कहा। पत्‍नी के काफी मनाने पर सुखपाल इसके लिए राजी हो गया।

यह भी पढ़ें: ताजुब्‍ब : लुधियाना में 11 साल की बच्‍ची बनी मां, अस्‍पताल में बेटी को दिया जन्‍म

 

इसके बाद सुखबीर कौर ने अपनी चचेरी बहन को रिश्ते के लिए रजामंद कर दोनों के बीच मेल-मिलाप करवाना शुरू कर दिया। इसके बाद सुखपाल सिंह और उसकी साली के बीच प्रेम बढ़ने लगा। कुछ दिन तक तो सब ठीक रहा। बाद में पत्‍नी ने प‍ति और चचेरी बहन के बीच प्‍यार को देखा तो वह इसे बर्दाश्‍त नहीं कर सकी। अब चूंकि उसने ही दोनों के बीच यह रिश्‍ता बनाया था तो वह उनसे कुछ नहीं कह सकी।

सुखबीर लाख कोशिश के बाद भी पति और अपनी बहन की नजदीकी को सहन न कर सकी और मायके चली गई। पति-पत्नी के बीच मनमुटाव का संकेत चचेरी बहन को मिला तो उसने अपनी बहन का घर बसाने के खातिर सुखपाल के साथ नाता तोड़ लिया। वह भी सुखपाल को छोड़कर अपने घर चली गई। युवती के पिता ने चार माह पूर्व उसका विवाह किसी और जगह कर दिया, लेकिन सुखपाल सिंह ने साली को अपनी जान का वास्ता देकर उससे संबंध कायम रखे।

इसकी भनक युवती के पति को लग गई और उसने पत्नी को मायके भेज दिया। 4 मार्च को सुखपाल सिंह के घर चचेरी साली का पिता, उसकी मां, भाई, युवक (सुखपाल) का ससुर और साला पहुंचे। उन्‍होंने सुखपाल सिंह के साथ मारपीट की अौर अपनी हरकतों से बाज आने लिए कहा।

यह भी पढ़ें: छात्रा ने प्रथम श्रेणी में पास की थी 12वीं परीक्षा, ख्‍बाब टूटा तो दे दी जान

सुखपाल अपनी साली को किसी तरह भुलाने और उससे दूर रहने को राजी नहीं था। जब उसे लगा कि अब दोनों का रिश्‍ता कायम रहना मुश्किल है तो उसने बुधवार को खुदकुशी कर ली। उसने पहले जहर खा लिया और फिर अपने कमरे में जाकर गले में फंदा लगाकर झूल गया।

सुखपाल सिंह ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है। इसमें उसने साली के बेवफा होने का जिक्र करते लिखा है, 'मैं अपनी पत्नी की रजामंदी से इस रिश्ते को कायम कर चुका था, लेकिन वह (साली का नाम) मुझे धोखा देती रही और मुझे बताए बिना शादी कर ली।'

घटना की पता चलते ही थाना झब्बाल के प्रभारी इंस्पेक्टर जोगा सिंह मौके पर पहुंचे और सुखपाल का शव कब्जे में ले लिया। पुसिल ने उसके भाई कर्मजीत सिंह के बयानों के आधार पर चचेरी साली सहित पांच आरोपियों विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया। सुखपाल सिंह के शव का सिविल अस्पताल से पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया।

यह भी पढ़ें: गुरमेहर की मां बोली, बेटी को मैंने बताया था कि तेरे पापा को युद्ध ने मारा
 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!