जागरण संवाददाता, तरनतारन : जिला परिषद और ब्लॉक समिति चुनावों के लिए नामांकन पत्र भरने के आखरी दिन तरनतारन और पट्टी तहसील में ही कांग्रेस और शिअद के कार्यकर्ता भिड़ गए। इस बीच जम कर गोलियां चलीं। कहा जा रहा है कि दोनों जगहों पर करीब 150 राउंड फायरिंग हुई है। इसमें थाना पट्टी के प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश कक्कड़, एसपी तिलक राज के गनमैन मुख्तार सिंह और शिअद समर्थक प्रेम सिंह तूत गोली से घायल हो गए। नगर कौंसिल तरनतारन के पूर्व अध्यक्ष भुपिंदर सिंह खेड़ा की मारपीट कर पगड़ी उतार दी गई।

एसडीएम कार्यलय तरनतारन में हलका विधायक डॉ. धर्मबीर अग्निहोत्री अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के नामांकन पत्र भरवाने गए। इस दौरान शिअद से संबंधित नगर कौंसिल के पूर्व अध्यक्ष भुपिंदर सिंह खेड़ा भी समर्थकों सहित पर्चा दाखिल करवाने पहुंचे। इस बीच कांग्रेस और शिअद कार्यकर्ताओं में कहासुनी हुई। बात इतनी बढ़ गई कि कांग्रेसी वर्करों में भुपिंदर सिंह खेड़ा के साथ मारपीट की ओर उनकी पगड़ी उतार दी गई। इस दौरान फायरिंग भी हुई। मौके पर मौजूद डीएसपी सुच्चा सिंह बल्ल व एसडीएम सुरिंदर सिंह ने सख्ती के आदेश दिए।

पूर्व विधायक व विधायक ने एक दूसरे पर लगाए आरोप

शिरोमणि अकाली दल के पूर्व विधायक हरमीत सिंह संधू ने आरोप लगाया कि सारी गुंडागर्दी हलका विधायक के इशारे पर हुई है। उधर विधायक डॉ. धर्मबीर अग्निहोत्री ने कहा कि शिअद के लोगों ने गोलियां चलाई है।

शाम तक रहा दहशत का आलम

इसी तरह पट्टी में नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरानशिअद और कांग्रेस समर्थक भिड़ गए। बताया जा रहा है कि दोनों दलों के समर्थकों ने पहले नारेबाजी की और बाद में गोलिया चला दी। मौके पर मौजूद थाना पट्टी शहरी के प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश कक्कड़, एसपी (आइ) के गनमैन मुख्तार सिंह और शिअद समर्थक प्रेम सिंह तूत गोली लगने से घायल हो गए। घायलों को इलाज लिए सरकारी अस्पताल दाखिल करवाया गया है। शाम तक तरनतारन और पट्टी तहसीलों में दहशत का आलम रहा।

केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं एसएसपी दर्शन सिंह मान ने बताया कि मौके पर जाकर हालात का जायजा लिया गया है। गुंडगर्दी करने वालों के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं। फिलहाल खबर लिखे जाने तक केस दर्ज नहीं हुआ था।

Posted By: Jagran