संवाद सहयोगी, तरनतारन : गांव पखोके के किसानों के खिलाफ मारपीट के दर्ज मामले को झूठा करार देते हुए किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी ने थाना सदर का घेराव किया। इस दौरान पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

धरने की अगुआई करते हुए कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सविंदर सिंह चोताला, इकबाल सिंह वड़िंग व दिलबाग सिंह मीयांविंड ने कहा कि गांव पखोके में कोई भी लड़ाई नहीं हुई। सियासी दखल के चलते किसानों पर विभिन्न धाराओं के तहत पुलिस ने ऐसा मामला दर्ज किया है, जो पूरी तरह रंजिश से प्रेरित है।

चोताला ने कहा कि हलका विधायक के कथित इशारे पर थाना सदर की पुलिस झूठे मामले दर्ज करके आम लोगों को परेशान कर रही है। पराली जलाने के जो मामले दर्ज किए जा रहे है, वह पूरी तरह से सियासी नेताओं को खुश करने लिए है। मौके पर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने आश्वासन दिया कि उनकी शिकायतों बाबत संबंधित मामलों की जांच कराई जाएगी।

इस मौके पर चमकौर सिंह, जगीर सिंह, जगतार सिंह, अनूप सिंह, बचित्तर सिंह, जसवंत सिंह, सुखविंदर सिंह, मनजीत सिंह, प्यारा सिंह, सकत्तर सिंह, प्रेम सिंह, सरवण सिंह और सतनाम सिंह मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!