अभिषेक जोशी, तरनतारन

शहर की सड़कों पर अतिक्रमण के कारण ट्रैफिक व्यवस्था का हाल खराब है। गुरु नगरी तरनतारन में रोजाना हजारों की संख्या में श्रद्धालु श्री दरबार साहिब में माथा टेकने आते हैं। लेकिन जगह-जगह अतिक्रमण और ट्रैफिक जाम से लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है। बाजारों में खरीदारी के लिए अपने वाहनों पर पहुंचने वाले लोगों के लिए पार्किंग तक नहीं है। ऊपर से दुकानदारों ने दुकानों के बाहर अपना सामान रखकर अतिक्रमण कर रखा है जो ट्रैफिक व्यवस्था में बाधा बन रहा है।

तरनतारन शहर का ऐसा कोई बाजार नहीं, जहां मौजूदा समय में अतिक्रमण न हो। श्री दरबार साहिब चौक, बोहड़ी चौक, तहसील बाजार और अड्डा बाजार के दुकानदारों ने दुकानों के बाहर सामान फैला रखा है, जिससे बाजार का रास्ता तंग हो चुका है। यही हालात रेलवे रोड, जीटी रोड, जीटी रोड, सरहाली रोड, झब्बाल चौक, एसडीएम कार्यालय और तहसील चौक के आसपास हैं। लेकिन सियासी दखल के कारण इस अतिक्रमण को हटाने के लिए जिला प्रशासन भी कोई कदम नहीं उठा रहा।

उधर, शहर की सभी सड़कें वन-वे हैं, परंतु आधी सड़क पर दुकानदारों ने सामान लगाकर कब्जा कर रखा है। इससे अकसर ट्रैफिक जाम लगता है, जिससे जनता परेशानी का सामना करना पड़ता है। दिन के समय भारी वाहनों का प्रवेश वर्जित होने के बावजूद ओवरलोड ट्रक सारा दिन शहर से गुजरते रहते हैं। इन्हें रोकने वाला भी कोई नहीं।

ट्रैफिक पुलिस जिम्मेदारी से नहीं निभाती है ड्यूटी

शहर निवासी कृष्णदेव तेजपाल, अमित कुमार, दलजीत सिंह, हरजीत सिंह, प्रताप सिंह, हरनाम सिंह व गुरलाल सिंह कहते हैं कि एसएसपी जब अपनी रिहायश से कार्यालय के लिए रवाना होते हैं तो उससे पांच मिनट पहले पुलिस सड़क से सारा ट्रैफिक क्लियर करवा देती है। चाहिए तो यह शहर के सभी चौक-चौराहों पर ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारा जाए। उन्होंने कहा कि दुकानदारों द्वारा किया गया अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन जब भी प्रयास करता है तो सियासी दबाव उनके रास्ते में अड़चन बन जाता है। अतिक्रमण हटाने के लिए जल्द चलाया जाएगा अभियान : सभ्रवाल डीसी प्रदीप सभ्रवाल कहते हैं कि शहर को अतिक्रमण से मुक्त करने के लिए जल्द अभियान चलाया जाएगा। इस मुहिम में एसडीएम, नगर कौंसिल के ईओ, ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज के अलावा दुकानदारों व रेहड़ी चालकों को भी शामिल किया जाएगा। शहर से अतिक्रमण हटाने के साथ-साथ ट्रैफिक व्यवस्था में भी सुधार किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!