संवाद सहयोगी, तरनतारन: लोकसभा चुनाव में करारी हार मिलने के बाद आम आदमी पार्टी ने पहली बैठक की। पार्टी के युवा विंग प्रदेश अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिद्धू द्वारा आयोजित की बैठक में पार्टी के विधायक गुरमीत सिंह मीत हेयर ने शिरकत करते कहा कि पार्टी को एकजुट करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। उन्होंने प्रदेश में फै ले नशे के मामले पर कैप्टन सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार व पुलिस प्रशासन की मिलीभगत से ही प्रदेश में नशा बिक रहा है। पांच हजार करोड़ के ड्रग्स मामले में डीएसपी रैंक के अधिकारियों की भागेदारी से साबित होता है कि पुलिस के अधिकारी भी नशा तस्करों के साथ मिले हुए हैं। इसके पीछे राज्य सरकार भी जिम्मेदार है। नशा खत्म करने की शपथ पर सवाल उठाते हुए सीएम कैप्टन पर निशाना साधते कहा कि न तो वह (सीएम) मंत्रियों, विधायकों से मिलते हैं न ही प्रदेश के हितों की उनको चिंता है। बिजली दरों में बढ़ोतरी की निंदा करते हुए कहा कि गुजरात से बहुत सस्ते दाम पर बिजली लेकर प्रदेश के लोगों को सात रुपये यूनिट के हिसाब से बिजली दी जा रही है जिसके खिलाफ आम आदमी पार्टी द्वारा प्रदेश भर में आम लोगों को सरकार के खलाफ जागरूक करने की मुहिम शुरू की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश बिजली संकट से जूझ रहा है। मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को चाहिए कि प्रदेश के भले के लिए अपना विभाग संभाले। वहीं मनजिंदर सिंह सिद्धू ने कहा कि पार्टी की मजबूती के लिए आने वाले दिन में प्रत्येक गांव तक पहुंच की जाएगी जिसके तहत खडूर साहिब हलके की जिम्मेदारी निभाने के लिए टीम तैयार कर दी है। मौके पर कुलदीप सिंह धालीवाल, दलबीर सिंह, गुरदेव सिंह, डॉ. कश्मीर सिंह सोहल, रंजीत सिंह चीमा, बलजीत सिंह, जसबीर सिंह, गुरप्रताप सिंह संधू, पलविंदर सिंह खालसा, सतनाम सिंह गिल, मंजीत सिंह मौजूद रहे।

Posted By: Jagran