धर्मबीर सिंह मल्हार, तरनतारन : जिले में डेंगू का कहर बढ़ता जा रहा है। सोमवार तक जिले में कुल 612 मरीजों की जांच की गई, जिनमें 300 मरीज डेंगू से प्रभावित पाए गए। सबसे अधिक मामले तरनतारन शहर से संबंधित है, यहां कुल 128 लोग डेंगू से प्रभावित हैं। सिविल अस्पताल तरनतारन, पट्टी, खडूर साहिब में तहसील स्तर पर डेंगू के मरीजों का इलाज किया जा रहा है। वहीं, डेंगू के लगातार बढ़ते मामलों पर सेहत विभाग की नींद उड़ गई है।

सिविल अस्पताल में डेंगू मरीजों के इलाज के लिए अलग वार्ड बनाए गए हैं। इस वार्ड में भर्ती चार मरीजों को सोमवार को छुट्टी दे दी गई, हालांकि दो मरीज भर्ती हैं। इन क्षेत्रों में डेंगू का डंक

तरनतारन शहर में 128

झब्बाल में 46

कैरों में 19

सरहाली में सात

घरियाला में छह,

मीयांविंड में चार

पट्टी में तीन

सुरसिंह में तीन

कसेल में एक

राजोके में एक लक्षण : तेज बुखार, सिर दर्द, मास पेशियों में दर्द, चमड़ी पर दाने निकलना, आंखों में दर्द की शिकायत, मसूड़ों व नाक से खून बहना

बचाव

. कूलर और गमलों की ट्रे का पानी हफ्ते में एक बार जरूर बदलें।

. रात को सोते समय मच्छर भगाने वाली क्रीम, तेल व मच्छर दानी का प्रयोग करें।

. बुखार होने पर पैरासिटामोल ही लें।

. टूटे बर्तन, ड्रम व टायरों को खुले में न रखें।

. पानी व तरल पदार्थो का अधिक सेवन करें व आराम जरूर करें। डेंगू प्रभावित क्षेत्र में पहुंच रहीं टीमें :

तरनतारन शहर व करीबी गांव कक्का कंडियाला में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ने पर सेहत विभाग की टीम ने जगह-जगह स्प्रे करवाया । टीम लोगों को डेंगू के प्रति जागरूक भी कर रही है। इस महीने में 217 नए मामले आए सामने : डॉ. धवन जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. स्वर्णजीत धवन का कहना है कि जिले में डेंगू का पहला केस जुलाई में आया था। यह मरीज तरनतारन शहर से था। अगस्त में एक भी मामला सामने नहीं आया। सितंबर में 16 मामले थे। अक्टूबर में 66 नए मामले सामने आए थे, जबकि इस माह के दौरान 217 नए मरीजों की पुष्टि हुई। बरती जा रही पूरी चौकसी : डॉ. गुप्ता सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ. इंद्र मोहन गुप्ता कहते हैं कि डेंगू मरीजों के इलाज लिए सेहत विभाग पूरी तरह से चौकसी बरत रहा है। मरीजों के टेस्ट और इलाज मुफ्त हैं। डॉक्टरों को आदेश दिए गए है कि किसी भी मरीज के इलाज के दौरान बाहर से दवाइयां न मंगवाई जाएं। डेंगू प्रभावित क्षेत्रों का वह खुद दौरा कर रहे हैं। जगह-जगह पर कैंप लगाकर लोगों को जागरूक भी किया जाता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!