जेएनएन, तरनतारन। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के दामाद व पूर्व मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों के सियासी सलाहकार गुरमुख सिंह घुल्ला बलेहर के खिलाफ ढाई करोड़ के लेनदेन में से 50 लाख की जाली रसीद देने का मामला दर्ज किया गया है। इसके बाद राजनीति तेज हो गई है। घुल्‍ला ने खुद पर इस कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया है। कैरों ने भी इसके लिए कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है।

गुरमुख सिंह घुल्ला बलेहर के खिलाफ 50 लाख की जाली रसीद देने का मामला

पट्टी शहर के करनदीप सिंह ने बताया कि शिअद-भाजपा सरकार के समय मार्च 2013 में ट्रक यूनियन पर तत्कालीन खाद्य आपूर्ति मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों के सियासी सलाहकार गुरमुख सिंह घुल्ला बलेहर ने कब्जा कर लिया था। इसके बाद सितारा सिंह डलीरी को यूनियन का प्रधान बना दिया। करनदीप सिंह और माझा सेंट्रल ट्रक ऑपरेट सोसायटी बना ली। पंजाब भर में ढुलाई के ठेके गुरमुख सिंह घुल्ला के पास थे।

यह भी पढ़ें: कबूतरबाजी मामले में दलेर मेहंदी की सजा पर फिलहाल रोक, दो वर्ष की मिली थी कैद

आरोप है कि विभिन्न ट्रांसपोर्टरों को गुरमुख सिंह घुल्ला ने करीब ढाई करोड़ का भुगतान नहीं किया। सियासी रसूख के चलते गुरमुख सिंह घुल्ला बलेहर ने ट्रक आपरेटरों को उक्त राशि देने की बजाय धमकाना शुरू कर दिया। करनदीप सिंह के पास तीन ट्रक थे। उसका करीब तीन लाख का किराया गुरमुख सिंह की ओर था। 28 मार्च को डीसी तरनतारन के कार्यालय में ट्रक आपेटरों को घुल्ला मिला।

आरोप है कि करनदीप सिंह ने जब अपना बकाया मांगा तो घुल्ला बलेहर ने 50 लाख की रसीद देते हुए कहा कि प्रधान बलदेव सिंह को उक्त राशि दे दी गई है। उक्त रसीद जाली पाए जाने पर थाना पट्टी की पुलिस ने गुरमुख सिंह घुल्ला बलेहर, सितारा सिंह डलीरी, गुरिंदर सिंह पनगोटा, बिक्रमजीत सिंह अमृतसर खिलाफ धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज कर लिया।

कैरों परिवार से तोड़ने का प्रयास : घुल्ला

गुरमुख सिंह घुल्ला बलेहर ने अपने खिलाफ दर्ज हुए मामले को झूठा करार देते कहा कि कैरों परिवार से तोड़ने लिए पट्टी के विधायक हरमिंदर सिंह गिल द्वारा कई प्रयास किए गए। मैं कैरों परिवार का पक्का समर्थक हूं। कांग्रेस में शामिल होने से मना करने पर मुझे झूठे मुकदमे में फंसाया जा रहा है। मैैं हर जांच का सामना करने लिए तैयार हूं।

कानून कर रहा है अपना काम : गिल

विधायक हरमिंदर सिंह गिल का कहना है कि कैरों परिवार की छत्रछाया में गुरमुख सिंह घुल्ला ने बहुत सारे कारनामे किए हैं, जिनकी अभी जांच शुरू हुई है। उन्होंने कहा कि ट्रक आपरेटरों के करोड़ों रुपये डकारने वाले घुल्ला बलेहर पर दर्ज मामले से मेरा वास्ता नहीं।

यह भी पढ़ें: लुधियाना की जाह्नवी ने नौ दिन पहले ही कहा था, अर्थशास्त्र का पेपर होगा लीक

राजनीति से प्रेरित है मामला : कैरों

पूर्व मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों ने कहा कि गुरमुख सिंह के खिलाफ दर्ज मामला पूरी  तरह से राजनीति से प्रेरित है। कांग्रेस सरकार चुनावी वादे पूरे करने में विफल साबित हो रही है। इसलिए लोगों का ध्यान बांटने के लिए शिअद से जुड़े नेताओं को झूठे मामलों का शिकार बनाया जा रहा है।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!