जासं, तरनतारन : सेहत विभाग की ओर से 1318 सैंपलों की रिपोर्ट वीरवार को जारी की गई। जारी की गई रिपोर्ट में 98 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। इनमें बीएसएफ के दस जवान भी शामिल हैं। सिविल सर्जन डा. रोहित मेहता ने बताया कि कुल तीन बार जारी हुई सूची मुताबिक 98 लोगों में 14 लोग पट्टी शहर के कोरोना पाजिटिव हैं। जबकि गांव माणकपुरा के 12 लोग कोरोना पाजिटिव हैं। इसी तरह कुल पाजिटिव मामलों में सात बच्चे, 34 महिलाएं भी शामिल है। 18 से 40 वर्ष के 42 युवा कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। जबकि बुजुर्गो को भी कोरोना ने अपनी लपेट में लिया है। जिनकी संख्या पूरे दिन में 17 है। जिले में कोरोना के अब एक्टिव मामले 1116 तक पहुंच गए हैं। 24 घंटों के दौरान कोरोना के चार मरीजों की मौत भी हुई है। अबतक कोरोना से मरने वालों की संख्या 197 तक पहुंच गई है। कोरोना प्रभावित क्षेत्र

गांव चुंग, नारला, पूहला, पधरी कलां, पहुविड, भोजियां, दराजके, नारली, घरियाला, सुरसिंह, खेमकरण, कसेल, ढंड, बागडिय़ा, ब्राह्मंणीवाला, वां तारा सिंह, ममणके, कैरों, चूसलेवड़, फैलोके, शेरों, काजीकोट, ढोलण, पंडोरी रण सिंह, कोट धर्म चंद कलां, किरतोवाल, पलासौर, फतेहाबाद, जवंदपुर, मीयांविड, खडूर साहिब, गोइंदवाल साहिब के क्षेत्रों में कोरोना के मरीज पाए गए हैं। इसी तरह वीरवार को अमृतसर में 462 केस मिले। वहीं दस लोगों की वीरवार को मौत हो गई। मृतकों में एक बीस वर्षीय युवक भी शामिल है। इससे पहले 18 अप्रैल को 742 केस मिले थे। अप्रैल के इन 22 दिनों में 7147 संक्रमित रिपोर्ट हुए हैं। यह पिछले एक साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इन्हीं 22 दिनों में 170 लोगों की मौत भी हुई। सितंबर 2020 में 5939 संक्रमित मिले थे और तब 203 लोगों की मौत हुई थी। अप्रैल-2021 में सितंबर के बाद सर्वाधिक मौतें हुई हैं। कोरोना संक्रमण दर तेजी से बढ़ रहा है, पर राहत की बात यह है कि जितने भी मरीज इन दिनों रिपोर्ट हो रहे हैं, वे ए सिम्टोमैटिक हैं। वीरवार को मिले 462 संक्रमितों में सभी ए सिम्टोमैटिक पाए गए हैं। इसका अर्थ यह है कि ये लोग कोरोना के प्रारंभिक लक्षणों से ग्रसित हैं और आइसीएमआर की गाइडलाइन का पालन करने से दस से बारह दिन के बीच स्वस्थ हो जाएंगे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप