तरनतारन, [अभिषेक जोशी]। जिले के सीमावर्ती गांव भैणी गुरमुख सिंह के एक श्रमिक के मकान पर गांव के सरपंच ने ताला लगा दिया है। श्रमिक गुरसेवक सिंह का कहना है कि उसने सरपंच से 10 हजार रुपये का कर्ज लिया था और इसके बदले में वह 30 हजार रुपये लौटा चुका है। दूसरी ओर, सरपंच का कहना है कि गुरसेवक ने उससे 40 हजार रुपये ब्याज पर लिए थे। राशि लेते समय उसने अपना मकान गिरवी रखा था। आज यह राशि 2.80 लाख रुपये हो चुकी है। श्रमिक का कहना है कि वह पुलिस के पास शिकायत लेकर पहुंचा, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई करने से मना कर दिया।

पत्‍नी, दो बेटियों व बेटे के साथ ठोकरें खाने को मजबूर है गांव भैणी गुरमुख सिंह का गुरसेवक सिंह

गुरसेवक सिंह का कहना है कि उसने 2008 में सतनाम सिंह से 10 हजार रुपये का कर्ज लिया था। यह राशि  ब्याज समेत 30 हजार बन गए। इसमें से 27 हजार उसने सतनाम को लौटा दिए, जबकि तीन हजार का भुगतान करने में वह असमर्थ रहा। इसी बीच पिछले साल सरपंच बनते ही सतनाम सिंह ने कर्ज की राशि को 2.80 लाख रुपये बना दिया।

बकौल गुरसेवक- 2008 में लिया था 10 हजार का कर्ज, ब्याज सहित 30 हजार हो गए, 27 हजार मैंने दे दिए थे

गुरसेवक सिंह ने कहा कि और पैसे न लौटा पाने पर सरपंच ने अब उसके मकान को ताला लगा दिया है। मकान में फ्रिज, एलईडी, सामान की पेटी, बिस्तर, चारपाई व बर्तन पड़े हुए हैं। अब वह अपनी पत्‍नी, दो बेटियों व बेटे के साथ दर-दर की ठोकरें खा रहा है। गुरसेवक सिंह ने बताया कि उसने एसएसपी को लिखित में शिकायत दी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। गुरसेवक सिंह ने अब परिवार के साथ बड़े भाई के घर में शरण ली है।

-----------------

गुरसेवक ने मकान गिरवी रख कर 40 हजार रुपये कर्ज लिया, आज यह राशि 2.80 लाख बन चुकी है : सरपंच

सरपंच सतनाम सिंह ने दावा किया है कि गुरसेवक सिंह ने 40 हजार रुपये का कर्ज ब्याज पर लिए थे। गारंटी के तौर पर उसने अपना दो मरले का मकान गिरवी रखा था। गुरसेवक ने कर्ज का भुगतान नहीं किया, जिसके चलते मकान पर मैंने ताला लगा दिया। गुरसेवक सिंह अब मकान लिखकर दिए बयान से मुकर रहा है।


यह भी पढ़ें: म‍हज तीन यात्रियों को लेकर 1581 किलाेमीटर के सफर पर रवाना हुई यह स्‍पेशल ट्रेन

अदालत की शरण में जाए गुरसेवक, पुलिस कुछ नहीं कर सकती

थाना प्रभारी झिरमिल सिंह ने बताया कि उन्होंने भी मौके पर जाकर देखा है। गुरसेवक सिंह के मकान पर ताला लगा हुआ है। सरपंच ने अपना पक्ष बताया है। पैसे के लेनदेन में पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर सकती। गुरसेवक सिंह को चाहिए कि वह अदालत की शरण में जाए।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें



 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!