संवाद सूत्र, मूनक (संगरूर) : भाकियू एकता उगराहां, पंजाब खेत मजदूर यूनियन व पीएसयू शहीद रंधावा द्वारा मूनक में बैठक आयोजित की गई। बैठक में तीन जुलाई को केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के देश स्तरीय हड़ताल के आह्वान की हिमायत में मूनक में प्रदर्शन करने का फैसला किया गया। यूनियन के कार्यकर्ता धरमिदर सिंह पशौर, गोपी कलरभैणी व होशियार सलेमगढ़ ने बताया कि केंद्र व पंजाब सरकार लोगों को राहत देने की बजाय परेशान कर रही है। लॉकडाउन की वजह से किरती वर्ग बीमारी, भूखमरी व बेरोजगारी का शिकार हो रहा है। किसान व मजदूर खुदकुशी कर रहे हैं, लेकिन सरकार राहत पैकेज देने की बजाय महंगाई को बढ़ाकर लोगों का दम निकाल रही है। किरत कानून में मजदूर विरोधी संशोधन किए जा रहे हैं, थर्मल प्लांट बेचे जा रहे हैं, किसानी खिलाफ खेती आर्डिनेस पास किए जा रहे हैं। बड़े लोगों के कर्ज माफ कर रहे हैं, जबकि डीजल-पेट्रोल की कीमत लगातार बढ़ रही है। बस किराया आम आदमी के बस की बात नहीं रही। परन्तु सरकार सरकारी खजाना भरने हेतु लोक विरोधी फैसले ले रही है, यह सरासर गलत है। उन्होंने आज के संघर्ष में किसानों, मजदूरों, छात्रों, नौजवानों, मुलाजिमों व दुकानदारों को शामिल होने का न्योता दिया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!